जागरण संवाददाता, भिवानी, लोहारू : जिला स्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह उपमंडल लोहारू स्थित चौ. देवीलाल खेल परिसर में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर विकास एवं पंचायत मंत्री देवेंद्र सिंह बबली ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। उन्होंने राष्ट्रीय गान की धुन के साथ ध्वजारोहण किया। उन्होंने मार्चपास्ट की टुकड़ियों का निरीक्षण किया और परेड की सलामी ली। इस दौरान उपायुक्त आरएस ढिल्लों, अतिरिक्त उपायुक्त राहुल नरवाल एवं पुलिस अधीक्षक अजीत सिंह शेखावत मौजूद रहे। इससे पहले बबली ने भिवानी के नेहरू पार्क स्थित शहीद स्मारक पर जाकर पुष्प चक्र अर्पित किया। उसके बाद उन्होंने लोहारू के लाल बहादुर शास्त्री पार्क में लाल बहादुर शास्त्री की प्रतिमा, महात्मा गांधी पार्क में महात्मा गांधी की प्रतिमा व आजाद भगत सिंह चौक पर भगत सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

विकास एवं पंचायत मंत्री देवेन्द्र सिंह बबली ने कहा कि पूरा देश तिरंगे के रंगों में रंगा है। हमने स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में 75 वर्ष पूरे कर लिए हैं। इस दिन को देखने के लिए मां भारती के अनगिनत सपूतों ने अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दिया। उन्हीं के बलिदानों के कारण आज हम आजादी की खुली हवा में सांस ले रहे हैं।

सन 1857 की क्रांति के दौरान अंबाला, हिसार, हांसी, नारनौल, रोहतक, रेवाड़ी, गुरुग्राम, मेवात और सिरसा क्षेत्रों का हर गांव क्रांति का केंद्र बन गया था। भिवानी का रोहणात गांव, हांसी की लाल सड़क, झज्जर की लाल डिग्गी, महम का आजाद चौक और नसीबपुर व तावड़ की लड़ाई अंग्रेजी हुकूमत के जुल्मो-सितम के खिलाफ हरियाणा वासियों के संघर्ष और बलिदान के साक्षी हैं। झज्जर के नवाब अब्दुर्रहमान खान, बल्लबगढ़ के राजा नाहर सिंह और फर्रूखनगर के शासक अहमद अली को बिना समुचित सुनवाई के ही फांसी पर लटका दिया गया। हांसी के मिर्जा मुनीर बेग तथा हुकुम चन्द कानूनगो को तो सार्वजनिक रूप से उनके मकान के सामने ही फांसी के फंदे पर लटका दिया गया।

उन्होंने कहा कि जो कौमें अपने सेनानियों, अपने बलिदानियों को याद नहीं रखतीं, उनका अस्तित्व मिट जाया करता है। ऐसे में अपने उन अमर शहीदों और महान स्वतंत्रता सेनानियों का स्मरण करना हमारा नैतिक क‌र्त्तव्य है, जिनके त्याग, तप और बलिदान के बल पर हमें यह दिन नसीब हुआ। इसी उद्देश्य से सन 1857 की क्रांति के बलिदानियों की स्मृतियों को सहेजने के लिए अंबाला छावनी में बलिदानी स्मारक का निर्माण किया जा रहा है। हरियाणा की माटी के लाल राव तुलाराम ने जिला महेन्द्रगढ़ के नसीबपुर में अंग्रजों का डटकर मुकाबला किया था। उनकी याद में वहां जल्द ही एक स्मारक बनाया जाएगा।

इसी तरह, रोहणात गांव के शहीदों की याद को ताजा रखने के साथ-साथ इसे आदर्श गांव बनाने के उद्देश्य से हमने 'रोहणात फ्रीडम ट्रस्ट' की स्थापना की है। हमने भावी पीढि़यों को रोहणात गांव की गौरवगाथा से अवगत कराने के लिए इसे स्कूल शिक्षा का हिस्सा बनाया है। लोगों को इस गांव के इतिहास के बारे में जानकारी देने के लिए शहीदों के जीवन पर आधारित डाक्यूमेंट्री फिल्म भी बनाई गई है।

उन्होंने सरकार की उपलब्धियां गिनाई और कहा प्रदेश में गत जून माह में 'खेलो इंडिया यूथ गेम्स-2021' का सफल आयोजन किया गया। हमारे खिलाड़ियों ने इन खेलों में 137 पदक जीतकर देश में प्रथम स्थान प्राप्त किया। हाल ही में बर्मिंघम में हुए कामनवैल्थ गेम्स में भारत को मिले 61 पदकों में से 20 पदक हमारे खिलाड़ियों ने जीते हैं। इनमें 17 पदक व्यक्तिगत स्पर्धा के और तीन टीम स्पर्धा के शामिल हैं। परेड का नेतृत्व उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय आर्यन चौधरी ने किया

समारोह में मुख्य अतिथि को सलामी देते हुए परेड का नेतृत्व उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय आर्यन चौधरी ने किया। परेड में जिला पुलिस भिवानी की दो प्लाटून, एनसीसी की दो प्लाटून व स्काऊट की एक प्लाटून ने भाग लिया। मार्च पास्ट की टुकडि़यां राष्ट्रीय ध्वज को सलाम करते हुए मंच के सामने से गुजरी। पीएसआइ आषिश की अगुवाई में पुरुष की पुलिस टुकड़ी, एएसआई बबीता की अगुवाई में महिला पुलिस की टुकड़ी, सागर के नेतृत्व में भारत स्काऊट एंड गाइड की टुकड़ी सहित लड़के व लड़कियों की एनसीसी टुकड़ियों ने मंच के सामने से गुजरते हुए राष्ट्रीय ध्वज को सलामी दी।

Edited By: Jagran

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट