जागरण संवाददाता, भिवानी : गांव देवराला में विवाहिता ने शुक्रवार को संदिग्ध परिस्थितियों में जहरीला पदार्थ निगल लिया। जिस कारण उसकी मौत हो गई। मृतका के मायके वालों ने ससुराल वालों पर दहेज हत्या का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि ससुराल वाले मृतका को पिछले कई दिनों से दहेज मांग पूरी न करने को लेकर प्रताड़ित कर रहे थे। वहीं ससुराल वालों ने कहा कि दहेज हत्या जैसी कोई बात नहीं है। वहीं पुलिस ने मृतका के पिता के बयान पर ससुराल पक्ष के 6 लोगों के खिलाफ दहेज हत्या का केस दर्ज करके कार्रवाई आरंभ कर दी। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने मृतका सुनील का पोस्टमार्टम चिकित्सकों के बोर्ड द्वारा करवाया गया है।

राजस्थान के जिला चुरू के गांव बास भ¨रड निवासी भगत ¨सह ने बताया कि उसने अपनी बेटी 20 वर्षीय सुनील की शादी 31 दिसंबर 2017 में गांव देवराला निवासी अभिषेक के साथ की थी। उन्होंने अपनी हैसियत से बढ़कर दान दहेज दिया। भगत ¨सह ने आरोप लगाया कि सुनील के ससुराल वाले शादी के बाद से ही उसे दहेज मांग को लेकर तंग करने लगे थे। कभी बाइक तो कभी कार की मांग करते थे। अब ससुराल वाले पांच लाख रुपये की मांग कर रहे थे। भगत ¨सह ने बताया कि शुक्रवार को उसकी बेटी सुनील का फोन आया। फोन पर सुनील ने बताया कि उसके ससुराल वाले पांच लाख रुपये की मांग कर रहे थे। मांग पूरी न करने पर जान से मारने की धमकी दे रहे थे। रात को सुनील के ससुर का फोन आया। उसने बताया सुनील की तबीयत खराब हो गई है, जिसे शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। इसकी सूचना मिलते ही जब वे पहुंचे तब तक सुनील की मौत हो चुकी थी। मृतका सुनील के ससुर विरेंद्र ¨सह ने बताया कि सुनील उनके यहां खुशी-खुशी रह रही थी। सुनील व अभिषेक के बीच कोई अनबन नहीं थी। यह कदम सुनील ने किस कारण से उठा लिया, इसका उन्हें भी अफसोस है। वर्जन:::::

मृतका सुनील के पिता भगत ¨सह के बयान पर पति, सास-ससुर सहित 6 लोगों के खिलाफ दहेज हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। मामले की जांच की जा रही है।

एएसआइ प्रदीप कुमार, जांच अधिकारी

Posted By: Jagran