जागरण संवाददाता, चरखी दादरी : जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में पानी निकासी के लिए 108 अस्थायी पंप लगाकर पुख्ता प्रबंध किए गए है तथा अगले दो सप्ताह में खेतों में भरे पानी की निकासी कर दी जाएगी। यह बात उपायुक्त प्रदीप गोदारा ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को वीडियो कांफ्रेंस के दौरान बताई। मुख्यमंत्री मनोहर लाल वीरवार को प्रदेश के सभी जिला उपायुक्तों के साथ जलजमाव, फसल खरीद, खाद व बीज वितरण सहित अनेक विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उपायुक्त ने बताया कि दादरी जिले के खेतों से अगले दो सप्ताह में पानी पूरी तरह से खाली कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि बिजली निगम द्वारा पानी निकासी वाली मोटरों पर अस्थाई कनेक्शन करके 24 घंटे बिजली उपलब्ध करवाई जा रही है। उन्होंने कहा कि जिला के ग्रामीण क्षेत्रों में 25 अक्टूबर तक पानी की निकासी कर दी जाएगी, ताकि किसान अपने खेतों में बुआई कर पाएं। सभी विभाग आपसी तालमेल के साथ काम कर रहे हैं। मुख्यमंत्री द्वारा खाद की उपलब्धि के बारे में जानकारी लेने पर उपायुक्त ने बताया कि दादरी जिले में अभी तक एक हजार मीट्रिक टन खाद पहुंची चुकी है तथा अगले दो दिन में तीन सौ मीट्रिक टन खाद जिला के खाद बिक्री केंद्रों पर पहुंच जाएगी। इसी प्रकार फसल खरीद पर उपायुक्त ने बताया कि जिला में बाजरे व अन्य फसलों की खरीद सुचारू रूप से चल रही है। सड़कों का होगा सुधारीकरण

मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा सड़कों के सुधारीकरण बारे जानकारी लेने पर उपायुक्त ने बताया कि जिला में रोहतक व कनीना सड़क की स्थिति अधिक खराब होने के कारण मरम्मत का कार्य शुरू कर दिया गया है तथा जिले की अन्य सड़कों की भी मरम्मत की जाएगी। उपायुक्त ने कहा कि जिला प्रशासन सरकार द्वारा शुरू की गई सभी योजनाओं के क्रियांवयन में प्राथमिकता से कार्य किए जा रहे हैं। ये रहे मौजूद

इस दौरान नगराधीश अमित मान, जिला राजस्व अधिकारी सतीश यादव, सिचाई विभाग के कार्यकारी अभियंता तेजपाल सांगवान, जिला खाद्य एवं पूर्ति अधिकारी बी एस दून, लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता सोमवीर दहिया, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के उपनिदेशक बलवंत सहारन सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

Edited By: Jagran