जागरण संवाददाता, भिवानी

कोरोना का कहरा जिले पर भारी पड़ रहा है। मंगलवार को एक दिन में 163 नए कोरोना संक्रमित मिले है तो जिले के सात लोगों की मौत हो गई। इनमें कुछ की मौत रोहतक और हिसार में हुई। उनका अंतिम संस्कार श्मशान भूमि में किया। इसमें दो की सिविल अस्पताल भिवानी और एक ही निजी अस्पताल में मौत हुई। एक दिन में जिले के सात लोगों की मौत होने पर स्वास्थ्य विभाग में भी हड़कंप मच गया है। सभी मृतक और कोरोना संक्रमित के परिवार के लोगों के संपर्क में आए लोगों के सैंपल लिए जा रहे है। कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। वर्तमान में कोरोना के 921 एक्टिव केस हैं। लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण से प्रशासन काफी ज्यादा परेशान है। उनकी तरफ से रात्रि लॉकडाउन में भी सख्ती जा रही है। इसके अलावा एक्टिव केस पर अंकुश लगाने के लिए सैंपल को बढ़ाया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की तरफ से अधिकतर मरीजों को होम क्वारंटाइन किया गया है। विभाग की तरफ से वहीं पर उनका इलाज किया जा रहा है। इलाज के चलते सभी सुविधा घर पर मिल रही है। लेकिन जिन लोगों की तबीयत ज्यादा खराब है उनको अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। इसमें से मंगलवार को 109 लोग ठीक होकर अपने घर को लौट गए।

जिले में हुए सातों के अंतिम संस्कार

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार दो लोगों की सिविल अस्पताल भिवानी में मौत हुई। इसके अलावा एक ही कदम अस्पताल, एक की रोहतक पीजीआइ, तीन लोगों की हिसार के निजी अस्पताल में मौत हुई है। मरने वालों में 48 वर्षीय महिला अपने भाई से मिलने के लिए ओडिशा से भिवानी आई थी। उसकी यहां आने के बाद तबीयत खराब हुई और उसे इलाज के लिए रोहतक पीजीआइ में भर्ती करवाया गया था। वहां पर उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। सभी का अंतिम संस्कार भिवानी में ही किया गया है। इनके साथ अभी मरने वालों का आंकड़ा 162 पहुंचा है। इसमें चार लोगों की मौत का आंकड़ा दूसरी जगह एड होगा।

जिले में कोरोना संक्रमित मिले है। उनके संपर्क में आए लोगों के सैंपल लिए जा रहे है। उनमें से यदि कोई संक्रमित मिलता है तो उसको भी क्वारंटाइन किया जाएगा।

- डा. राजेश कुमार, कोविड कोर्डिनेटर, भिवानी

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप