राजेश कादियान, बवानीखेड़ा : कस्बा के वाल्मीकि स्टेडियम के निर्माण के राह में हाईटेंशन तार आड़े आ गई है। इसके चलते इस स्टेडियम का निर्माण संभव नहीं हो पाएगा। क्योंकि सुरक्षा मानकों पर यह स्टेडियम खरा नहीं उतरता। इसके चलते इस स्टेडियम के निर्माण को फिलहाल टाल दिया गया है। क्योंकि स्टेडियम की जगह के ऊपर से हाईटेंशन तार की लाइन गुजर रही है। अगर यहां पर स्टेडियम का निर्माण किया जाता है तो यहां पर हमेशा कोई न कोई हादसा बने रहने का खतरा रहेगा। खिलाड़ियों की सुरक्षा के मद्देनजर फिलहाल नगर पालिका प्रशासन ने यहां पर स्टेडियम के निर्माण को टाल दिया है।

बता दें कि कस्बा के बाईपास रोड के नजदीक करीब 4 एकड़ भूमि पर वाल्मीकि स्टेडियम निर्माण प्रस्तावित था। पिछले दिनों तिगड़ाना में आयोजित भाजपा की रैली के दौरान मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने यहां पर स्टेडियम बनाने की घोषणा की थी, लेकिन घोषणा के बाद जब नगर पालिका प्रशासन के अधिकारियों ने यहां का दौरा किया तो पाया गया कि स्टेडियम की जमीन के ऊपर से हाईटेंशन की लाइन गुजर रही है। इस स्टेडियम का निर्माण टालने के बाद नगर पालिका प्रशासन द्वारा कस्बा के वार्ड 15 में खस्ताहाल पड़े दादी गौरी स्टेडियम की हालत सुधारने के लिए विचार किया जा रहा है। फिलहाल यह योजना विचाराधीन ही चल रही है। 23 हजार 519 की आबादी पर एक भी नहीं है स्टेडियम 15 वार्डो वाले कस्बा की आबादी करीब 23 हजार 519 है। फिलहाल कस्बा में कोई भी स्टेडियम नहीं है। हालांकि स्टेडियम निर्माण के लिए नगर पालिका द्वारा कस्बा के बाईपास व वार्ड न. 15 में जगह छोड़ी गई है। बाईपास पर बनने वाले वाल्मीकि स्टेडियम को जहां टाल दिया गया है। वही वार्ड न. 15 में पड़ी जमीन पर फिलहाल स्टेडियम बनाने का विचार नगर पालिका प्रशासन द्वारा किया जा रहा है। सैकड़ों युवा सड़कों के किनारे दौड़ लगाने को है मजबूर कस्बा में फिलहाल कोई भी स्टेडियम न होने के चलते खिलाड़ियों को अभ्यास के लिए उचित स्थान नहीं मिल पा रहा है। कस्बा के युवा सड़कों के किनारे ही दौड़ लगाकर अपने भविष्य को संवारने में लगे हुए है। खिलाड़ी अंकित, कृष्ण थोरी, जतिन कौशिक, मोंटी, सूरज ओड, सुमित, कोहिनूर, विकास, जयवीर आदि ने बताया कि कस्बा में सैकड़ों युवा इन दिनों पुलिस भर्ती की तैयारियां में जुटे हुए हैं। लेकिन कस्बा में स्टेडियम न होने के चलते उन्हें मजबूरीवश खाली प्लाटों या सड़कों के किनारे दौड़ लगाने को मजबूर होना पड़ रहा है। उन्होंने जिला प्रशासन से मांग की है कि शीघ्र ही कस्बा में खेल स्टेडियम बनाया जाए, ताकि उन्हें खेलने में किसी प्रकार की दिक्कत महसूस न हों। फिलहाल वाल्मीकि स्टेडियम निर्माण कार्य टला नपा सचिव राजेश वर्मा और लेखाकार तेजपाल तंवर ने बताया कि हाईटेंशन लाइन की वजह से वाल्मीकि स्टेडियम के निर्माण को टाल दिया गया है। यह निर्णय खिलाड़ियों की सुरक्षा के मद्देनजर लिया गया है। उन्होंने बताया कि यहां की जमीन के ऊपर से बिजली की हाईटेंशन तार गुजर रही है। इसके चलते कभी भी हादसा होने का भय बना रहेगा। उन्होंने बताया कि दादी गौरी स्टेडियम के निर्माण के बारे में नगर पालिका प्रशासन द्वारा शीघ्र ही कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस