मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, भिवानी : भिवानी-महेंद्रगढ़ लोकसभा क्षेत्र से गुरुवार को भाजपा प्रत्याशी चौ. धर्मवीर सिंह ने अपना नामांकन दाखिल कर चुनावी मैदान में फिर से ताल ठोंक दी हैं। नामांकन दाखिल करने के लिए धर्मवीर सिंह अपनी लकी गाड़ी मारुति जेन से लघु सचिवालय स्थित नामांकन केंद्र पहुंचे। उनके साथ उनका बेटा मोहित चौधरी भी पहुंचा। मोहित ने चौ.धर्मवीर सिंह के कवरिग कैंडिडेट के तौर पर नामांकन दाखिल किया। नामांकन दाखिल करने के बाद सीधे चौ. धर्मबीर सिंह नामांकन दाखिल करने के बाद हुडा पार्क ग्राउंड रैली स्थल पर पहुंचे। फिर मारुति जेन गाड़ी बैठकर नामांकन करने पहुंचे धर्मबीर सिंह

फोटो फाइल 18 बीडब्ल्यूएन 15 जेपीजी

भाजपा प्रत्याशी धर्मबीर सिंह सुबह सवा 11 बजे लघु सचिवालय में अपनी लकी गाड़ी मारुति जैन में सवार होकर आए। वे सन 2014 में भी इसी गाड़ी में सवार होकर नामांकन पत्र दाखिल करने आए थे। इस गाड़ी में बैठकर नामांकन पत्र दाखिल करने की शुरुआत धर्मबीर सिंह ने 2009 के विधानसभा चुनावों से सोहना से की थी। इसके बाद से वे लगातार इस गाड़ी का ही इस्तेमाल करते आ रहे हैं। उनसे पूछा गया तो कहा कि यह गाड़ी उनके लिए लकी साबित रही है। सबसे पहला नामांकन पत्र धर्मबीर सिंह ने भरा

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए भिवानी-महेन्द्रगढ़ लोकसभा क्षेत्र के लिए पहला नामांकन पत्र धर्मबीर सिंह ने ही भरा है। हालांकि उनके बाद अन्य प्रत्याशी भी नामांकन पत्र दाखिल करने पहुंच गए। भाजपा गठबंधन पार्टी रिपब्लिकन से कुंदन चौधरी ने भरा नामांकन

-केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले की रिपब्लिकन पार्टी के भिवानी-महेंद्रगढ़ लोकसभा प्रत्याशी कुंदन चौधरी ने अपना नामांकन दाखिल किया। वह अपने पांच समर्थकों के साथ पहुंचे थे। इससे पहले 16 अप्रैल को नामांकन भरने पहुंचे कुंदन चौधरी नामांकन में त्रुटि होने पर वापस भेज दिया गया था। इसके साथ ही गुरुवार को भाजपा के ही पूर्व अनुसूचित जाति मोर्चा सेल के अध्यक्ष रहे सुरेश चंद्र भी निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन भरने पहुंचे, लेकिन कागजातों में त्रुटि होने पर उन्हें वापस भेज दिया। निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में जगत सिंह भी आए, लेकिन उनका भी नामांकन दाखिल नहीं हो पाया। सुरक्षा के कड़े किए गए थे प्रबंध

पहली बार देखने में आया कि नामांकन केंद्र के आस-पास में समर्थकों की भीड़ नहीं मिली। चुनाव आयोग की सख्ती के बाद वहां कड़े सुरक्षा के प्रबंध किए गए थे। 100 मीटर के दायर से समर्थकों को दूर रहने के आदेश दिए हुए थे। केवल प्रत्याशी के साथ चार ही व्यक्तियों के आने की अनुमति थी। प्रत्याशी भी इस सख्ती का पूरा पालन करते नजर आए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप