जागरण संवाददाता, भिवानी : लावारिस पशुओं के प्रबंध सहित अन्य मांगों को लेकर अखिल भारतीय किसान सभा के बैनर तले सीटू ने जिला उपायुक्त कार्यालय के सामने धरना-प्रदर्शन किया व जोरदार नारेबाजी की। प्रदर्शन का नेतृत्व किसान सभा के जिला प्रधान ओम प्रकाश सैनी ने किया। बाद में उन्होंने उपायुक्त के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भेजा। प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए सीटू जिला प्रधान का. ओम प्रकाश ने कहा कि लावारिस पशुओं ने किसानों की फसलों को बर्बाद कर दिया है। उनका स्थायी समाधान किया जाए, किसानों की फसलों का लाभकारी मूल्य मिले, स्वामीनाथन कमीशन की रिपोर्ट लागू हो, मनरेगा मजदूरों का बकाया भुगतान शीघ्र हो, गांव में प्रत्येक परिवार को 100 दिन का रोजगार मिले, भवन विकास एवं मनरेगा मजदूरों का पंजीकरण हो तथा उन्हें स्वीकृत सुविधाएं तुरंत दी जाए एवं सभी गरीबों के पीले राशन कार्ड बनाए जाए, किसानों को मुआवजा राशी देने की मांग की। दयानंद पूनिया व सीटू के जिला सचिव अनिल कुमार ने राज्य व केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार किसानों एवं मजदूरों की समस्याओं को हल करने की बजाए बड़े पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने का काम कर रही है। उन्होंने कई औद्योगिक घरानों के लाखों रुपये के टैक्स व ऋण माफ कर दिए हैं। धरने पर बैठे अखिल भारतीय किसान सभा सदस्यों व सीटू नेताओं ने हरियाणा में बढ़ रहे अपराध पर कड़ी ¨चता जताई। उन्होंने सरकार से महिलाओं की सुरक्षा के लिए कड़े कदम उठाने की मांग करते हुए कहा कि आज महिलाएं भय के साये में जी रही है। लगातार प्रदेश के अन्य शहरों में एक के बाद एक हो रही दुष्कर्म की घटनाओं ने सब को हिलाकर रख दिया है। उन्होंने कहा कि सरकार इस प्रकार के कुकृत्य करने वालों को पकड़कर सख्त से सख्त सजा दे। धरने को किसान नेता बलबीर, जय प्रकाश परमार, मास्टर इंद्र ¨सह, कर्ण ¨सह जैनावास, सुनीता कुंगड, वेद गोयत, राजबीर लोहारू , हवा ¨सह ओबरा, मा. राजबीर ¨सह, कृष्ण धनाना, संजय नौरंगाबाद, मजदूर नेता भीम ¨सह, रामफल देशवाल, राजकुमार तिगड़ाना, रामकिशन सांगा, महेंद्र प्रजापति, प्रताप ¨सहमार ने सम्बोधित किया।

Posted By: Jagran