जनस्वास्थ्य विभाग ने चलाई विशेष मुहिम, आंकड़े किए जारी

जागरण संवाददाता, चरखी दादरी : जिले के हजारों पेयजल उपभोक्ताओं द्वारा समय पर बिल नहीं भरने से जनस्वास्थ्य विभाग के करोड़ों रुपये अटके हुए हैं। विभाग के अधिकारियों ने समय पर बिल नहीं भरने वाले लोगों को प्रेरित करने के लिए तीन टीमों का गठन किया है ताकि उपभोक्ताओं को अधिक जुर्माना राशि भरने से बचाया जा सके। जिले के लगभग 51 हजार 902 पेयजल उपभोक्ताओं ने अपने कनेक्शन वैध करवाए हुए हैं। इनमें से अधिकतर उपभोक्ताओं पर 6.75 करोड़ रुपये से अधिक की राशि बकाया बताई जा रही है। जनस्वास्थ्य विभाग की ओर से ऐसे पेयजल उपभोक्ताओं को बिल भरने के लिए प्रेरित किया जाएगा। विभाग ने उपभोक्ताओं से बिल भरवाने के लिए तीन टीमों का गठन किया है। विभाग द्वारा बनाई गई टीमें बिल नहीं भरने वाले उपभोक्ताओं के घर घर पहुंच उन्हें बकाया बिल भरने के लिए जागरूक करेंगे।

पानी बिल अधिकारी रामरूप यादव ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में सरकार द्वारा वर्ष 2015 से पहले के सभी पानी बिल व जुर्माना माफ करने के बाद भी लाखों रुपये बकाया है। वहीं शहर के उपभोक्ताओं पर भी पांच करोड़ से अधिक की राशि बकाया है। उन्होंने सभी पेयजल उपभोक्ताओं से समय पर बिल भरने की अपील की है ताकि उपभोक्ताओं पर जुर्माने के तौर पर अतिरिक्त भार न पड़े।

मई 2019 तक 29 लाख 29 हजार 376 रुपये हुए जमा

क्षेत्र का नाम कनेक्शन संख्या जमा राशि

शहर दादरी 11882 तीन लाख रुपये

दादरी प्रथम 6891 2 लाख 46 हजार 758 रुपये

दादरी द्वितीय 11447 2 लाख 98 हजार 617 रुपये

बाढ़डा 11875 11 लाख 1 हजार 750 रुपये

झोझूकलां 9807

9 लाख 70 हजार 344 रुपये

जन स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों अनुसार जिलेभर में 51 हजार 902 पेयजल के कनेक्शन वैध है। इनमें से विभाग को केवल 29 लाख 29 हजार 376 रुपये ही मिल पाए हैं।

बकाया है 5.83 करोड़ की राशि

जन स्वास्थ्य विभाग के पानी बिल क्लेकशन अधिकारी रामरूप यादव ने बताया कि फिलहाल शहर के उपभोक्ताओं पर 5 करोड़ 83 लाख के बिल बकाया हैं। वहीं ग्रामीण

क्षेत्रों में सरकार द्वारा मार्च 2015 तक सभी पेयजल बिल व जुर्माना माफ करने के बावजूद लगभग 92 लाख रुपये से अधिक का बकाया है।

उपभोक्ताओं को किया जाएगा प्रेरित

जन स्वास्थ्य विभाग के जेई समुंद्र सिंह ने बताया कि समय पर पेयजल का बिल नहीं भरने वाले उपभोक्ताओं को प्रेरित करने के लिए तीन टीमों का गठन किया गया है। बनाई गई टीमें बकाया पेयजल का बिल भरने के लिए घर-घर जाकर उपभोक्ताओं को प्रेरित करेंगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस