जागरण संवाददाता, चरखी दादरी :

बृहस्पतिवार शाम को तेज आंधी के साथ बारिश जहां कई लोगों के लिए राहत बनकर आई। वहीं दादरी जिले में लाखों रुपये के नुकसान का कारण भी बनी। सबसे ज्यादा नुकसान बिजली निगम को हुआ है। हालांकि अधिकारी आंधी में हुए नुकसान का अभी तक आंकलन करने में जुटे हुए हैं। करीब 60 किलोमीटर की गति से चली तेज हवाओं के कारण जिले में बिजली के 570 खंभे टूट गए। इसके अलावा विभिन्न सड़कों के साथ खड़े लगभग 71 पेड़ उखड़ गए। मुख्य सड़कों के अलावा खेतों में खड़े दर्जनों पेड़ भी आंधी के कारण उखड़ गए। जमीन से उखड़ कर बीचों-बीच पेड़ गिरने के कारण कई सड़क मार्ग भी बाधित रहे।

वहीं, दादरी की छोटी बाजारी क्षेत्र में बंद पड़े मकान का एक बड़ा हिस्सा भी गिर गया। कई लोगों के मकान, दुकान पर लगी टीन शैड भी टूट गई। बिजली निगम द्वारा टूटे खंभों की मरम्मत के कार्य को शुरू कर दिया गया है। साथ ही वन विभाग द्वारा भी जेसीबी व ट्रैक्टर की मदद से सड़कों पर पड़े पेड़ों को देर रात तक हटवाया गया। जिसके बाद वहां से आवागमन शुरू हो सका।

जिले में टूटे 570 पोल

बृहस्पतिवार शाम को आई तेज आंधी के कारण दादरी जिले में 570 बिजली के खंभे टूट गए। जिसमें दादरी शहर में 16, शहर के आसपास के क्षेत्र में 88, सांजरवास सब-स्टेशन के अंतर्गत 59, बाढड़ा में 146, झोझू स्टेशन के अंतर्गत 150, अटेला पावर हाउस के अंतर्गत 106 तथा 5 अन्य जगहों पर पोल तेज आंधी के कारण टूट गए। कई जगहों पर ट्रांसफार्मर भी पोल टूटने के कारण जमीन पर गिर गए। पोल टूटने के कारण काफी मात्रा में बिजली की तार भी क्षतिग्रस्त हो गई। इतनी बड़ी संख्या में बिजली पोल टूटने के कारण बिजली निगम को लाखों रूपये का नुकसान हुआ है। इसके साथ ही पोल टूटने के कारण कई क्षेत्रों में बिजली आपूर्ति भी बाधित रही।

सहयोग करें उपभोक्ता : एक्सईएन

बिजली निगम के कार्यकारी अभियंता ओमबीर सिंह ने बताया कि एक साथ इतनी बड़ी संख्या में टूटे हुए खंभों को दोबारा से लगाने के लिए दो दर्जन से अधिक कर्मचारी जुटे हुए है। दो दिन में बिजली आपूर्ति व्यवस्था को पटरी पर लाया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि ऐसे में उपभोक्ताओं को भी कर्मचारियों व विभाग का सहयोग करना चाहिए।

यहां टूटे इतने पेड़

तेज आंधी के कारण दादरी के रोहतक रोड पर 11 पेड़, दिल्ली बाइपास के समीप 4 पेड़, ढाणी-पातुवास रोड पर 6 पेड़, अचीना-ताल रोड पर 9 पेड़, भिवानी बाइपास पर दो पेड़, लोहारू कनाल पर 9, चिड़िया रोड पर दो, कलियाणा रोड पर 4, रानीला से बास रोड पर दो, बिरहीं से शीशवाला-झोझू रोड पर 7, झोझू से गुड़ाना-बाढड़ा रोड पर 6, आदमपुर डाढी से झोझू-सतनाली रोड पर 7, रोहतक रोड फाटक से रेलवे स्टेशन रोड पर एक तथा दादरी के आश्रम रोड पर एक पेड़ टूटा है। तेज आंधी में पेड़ उखड़ने के कारण मुख्य रूप से दादरी-रोहतक रोड, दादरी-अचीना रोड, दादरी-कलियाणा रोड, समसपुर-कालियावास रोड बाधित रहे।

6 घंटे में हटाए पेड़ : अधिकारी

वन मंडल अधिकारी सतबीर माथुर ने बताया कि सड़कों पर पेड़ गिरने की सूचना मिलते ही विभाग हरकत में आ गया था। विभाग के करीब 20 कर्मचारियों द्वारा एक जेसीबी व तीन ट्रैक्टरों की मदद से 6 घंटे की मशक्कत के बाद सभी उखड़े हुए पेड़ों को सड़क से हटा दिया गया था। रेंज अधिकारी जयपाल राठी, वन दरोगा कैलाश चंद ने बताया कि पेड़ गिरने से बाधित हुए रास्तों को देर रात करीब एक बजे तक आवागमन के लायक कर दिया गया था।

छोटी बाजारी में गिरा मकान का हिस्सा

दादरी नगर के छोटी बाजारी क्षेत्र में बंद पड़े मकान का एक बड़ा हिस्सा बीती देर शाम को आंधी के कारण टूट कर सड़क पर गिर गया। गनीमत रही कि उस समय वहां पर कोई मौजूद नहीं था। वरना कोई बड़ा हादसा भी हो सकता था। इसके अलावा दादरी के लोहारू रोड व अन्य क्षेत्रों में स्थित वर्कशॉप, फैक्ट्रियों की टीन शैड क्षतिग्रस्त हो गई। कुछ जगहों पर तो शैड पाइपों से उखड़ कर सड़क पर गिर गई।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस