जागरण संवाददाता, चरखी दादरी : दादरी में स्थित 100 बेड के सरकारी अस्पताल के करीब स्थित 30 साल पुराने भवन का भी अब कायाकल्प होगा। इसके लिए सरकार ने 36.87 लाख रुपये मंजूर किए हैं। अस्पताल के पुराने भवन में ओपीडी ब्लॉक में बंद पड़े कमरों की मरम्मत कराई जाएगी। इसके बाद उन कमरों का भी इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके अलावा विभाग से संबंधित कुछ कार्यालयों को भी पुराने भवन में ही शिफ्ट करने पर विचार किया जा रहा है। अस्पताल के पुराने भवन में टाइलें भी बिछवाई जाएंगी।

दादरी के सरकारी अस्पताल में हर रोज करीब 500 मरीज ओपीडी में आते हैं। ऐसे में चिकित्सकों के कक्ष के सामने मरीजों की भीड़ लगी रहती है। मरम्मत कार्य के बाद कमरों की संख्या बढ़ जाएगी। इससे मरीजों के लिए वेटिग रूम बनाने से लेकर चिकित्सकों के अतिरिक्त कक्ष बनाए जा सकेंगे। नए और पुराने भवन के बीच बनेगा रास्ता

स्वास्थ्य विभाग के एस्टीमेट के अनुसार अस्पताल के पुराने और नए भवन के बीच में रास्ता बनाया जाएगा। इस रास्ते पर टीन शेड भी लगाई जाएगी। जिससे एक से दूसरे भवन में आने-जाने वाले मरीजों व अन्य लोगों को काफी सहुलियत होगी। दादरी में 100 बेड का नया अस्पताल भवन बनने के बाद। पुराने भवन में फिलहाल ओपीडी व अन्य सेवाएं चल रही हैं। इमरजेंसी तथा सीएमओ कार्यालय नए भवन में हैं। ऐसे में कई बार मरीजों व तीमारदारों को अस्पताल के नए व पुराने भवन के चक्कर लगाने पड़ते हैं। दोनों भवनों के बीच रास्ता न होने के कारण गर्मी, बारिश के दिनों में उन्हें काफी दिक्कतें आती हैं।

अस्पताल के पुराने भवन में करीब 37 लाख रुपये की लागत से मरम्मत कार्य करवाए जाएंगे। इसमें चिकित्सक कक्षों की संख्या बढ़ाई जाएगी। साथ ही दोनों भवनों के बीच रास्ता भी बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस काम को एक महीने में शुरू करवाने का प्रयास किया जाएगा। जिससे जल्द से जल्द लोगों को सुविधा मिल सके।

डॉ. विरेंद्र यादव, सीएमओ, चरखी दादरी

एस्टीमेट बनाकर स्वास्थ्य विभाग को दे दिया गया था। स्वास्थ्य विभाग के एस्टीमेट की राशि जमा करवाते ही टेंडर लगा दिए जाएंगे। टेंडर अलॉट होते ही काम शुरू करवा दिया जाएगा।

लोकेश डागर, एसडीओ, लोक निर्माण विभाग

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप