संवाद सहयोगी,बहल : बहल पुलिस ने संडवा निवासी प्रवीण के बयान पर पांच लोगों के खिलाफ अनुसूचित जाति व जनजाति निरोधक अधिनियम तथा योजना बनाकर रास्ता रोककर मारपीट करके 30 हजार रुपये छीनने का केस दर्ज किया है।

घायल प्रवीण ने पुलिस को दिए बयान के मुताबिक वह अपने मामा के पास गांव विधवान में मजदूरी का काम करता है। उसका मामा गांव में राजमिस्त्री का काम करता है। वह अपनी बाइक से 6 दिसंबर की शाम को गांव संडवा आ रहा था। जब वह बुशान से होकर संडवा जा रहा था तो गांव के नजदीक मंदिर के सामने एक अल्टो गाड़ी खड़ी थी। जिसकी ड्राइवर सीट पर एक और चार अन्य लोग बाहर खड़े थे। दो युवकों ने मुंह कपड़े से ढका हुआ था। वह विधवान निवासी संदीप तथा उसके चाचा के लड़के को पहचानता है। इन चारों ने उसका मोटरसाइकिल बीच रास्ते रोककर उसे डंडों से बुरी तरह से पीटा व जाति सूचक गालियां दी। उक्त लोग घायल अवस्था में उसे छोड़कर वहां से फरार हो गए। फरार होने से पहले उन लोगों ने प्रवीन के पास से तीस हजार रुपये भी छीन ले गए।

Posted By: Jagran