जागरण संवाददाता, चरखी दादरी : खरीफ की फसलों को जिले की मंडियों में सरकारी भाव पर बेचने के लिए किसानों द्वारा करवाए जा रहे पंजीकरण का समय 20 दिन और बढ़ा दिया गया है। इसके चलते बचे हुए किसान अब अपनी फसलों का पंजीकरण करवाकर सरकारी भाव का लाभ उठा सकेंगे। अभी तक जिले के करीब 27 हजार किसान अपनी फसलों का पंजीकरण करवा चुके हैं। सरकारी रेट पर मंडियों में खरीफ की फसलें बेचने के लिए किसानों को मेरी फसल मेरा ब्यौरा नामक पोर्टल पर पंजीकरण करवाना था। इसके लिए पहले 5 जुलाई से 31 जुलाई तक का समय निर्धारित किया गया था, लेकिन पंजीकरण के लिए निर्धारित किए समय तक कई किसान अपनी फसलों को पंजीकरण नहीं करवा सके थे । इसके बाद किसानों की मांग पर पंजीकरण के लिए दस दिन का समय बढ़ाते हुए 10 अगस्त तक पंजीकरण का समय निर्धारित किया गया, लेकिन दस दिन बढ़ाने के बावजूद भी करीब चार हजार किसानों की फसलों की पंजीकरण रह गया था। इसको देखते हुए मार्केट कमेटी द्वारा अब किसानों को पंजीकरण के लिए 31 अगस्त तक का मौका दिया गया है, ताकि जिले के बचे हुए किसान अपनी बाजरा, कपास, धान, गन्ना इत्यादि फसलों का पंजीकरण करवा सकें।

----------

करीब 27 हजार ने करवाया पंजीकरण

खरीफ की फसलों के ऑनलाइन करने की प्रक्रिया शुरू हुए करीब डेढ़ माह का समय हो चुका है। दादरी अनाज मंडी सुपरवाइजर रामकिशन ने बताया कि पांच जुलाई से शुरू हुई प्रक्रिया के दौरान दादरी जिले के 26 हजार 929 किसानों ने अपनी फसलों का पंजीकरण करवाया है, जिसमें दादरी खंड के 14 हजार 511, बाढड़ा खंड के 10 हजार 204 व बौंद खंड के 2 हजार 214 किसान शामिल हैं।

----------

शीघ्र पंजीकरण करवाएं किसान : सचिव

दादरी मार्केट कमेटी सचिव बसंत कुमार ने कहा कि आनलाइन पंजीकरण के लिए 31 अगस्त तक समय निर्धारित किया गया है। उन्होंने कहा कि किसानों की फसलों का पंजीकरण करने के लिए मार्केट कमेटी की आधा दर्जन टीमें कार्य कर रही हैं। उन्होंने अभी तक किसी कारणवश अपनी फसलों का पंजीकरण नहीं करवाने वाले किसानों से 31 अगस्त से पहले अपनी फसलों का पंजीकरण करवाने की अपील की है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस