जागरण संवाददाता, चरखी दादरी :

भारतीय किसान यूनियन के युवा प्रदेशाध्यक्ष रवि आजाद ने रविवार को नई अनाज मंडी स्थित किसान विश्राम गृह में भाकियू जिला इकाई के पदाधिकारियों के साथ बैठक आयोजित की। जिसकी अध्यक्षता भाकियू पदाधिकारी भूप सिंह दलाल व डा. जगदेव ने की। रवि आजाद ने खरीदी गई किसानों की फसलों का जल्द भुगतान करवाने और पंजीकरण न करवाने वाले किसानों की मेन्यूअल रूप से खरीद शुरू करवाने की मांग की। भाकियू पदाधिकारियों ने किसानों द्वारा उत्पादित फसलों की खरीद न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। बैठक को संबोधित करते हुए युवा प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि जिला चरखी दादरी व भिवानी की मंडियों में वर्तमान में सरसों की खरीद नहीं हो रही है। जबकि किसानों खरीद के नियमों के अनुसार एक साथ 25 क्विंटल से अधिक सरसों न खरीदे जाने के कारण किसानों द्वारा उत्पादित सरसों नहीं बिक पाई है।

महापंचायत के लिए सौंपी जिम्मेदारी

युवा प्रदेशाध्यक्ष रवि आजाद ने बताया कि मेन्यूअल खरीद, भुगतान व किसानों से जुड़ी दूसरी समस्याओं को लेकर दादरी, भिवानी जिले के किसानों की दोनों जिलों के किसानों की महापंचायत प्रदेशाध्यक्ष महेंद्र सिंह टिकैत के नेतृत्व में 27 मई को बहल में आयोजित होगी। जिसमें किसानों की लंबित मांगों को लेकर भाकियू कड़ा निर्णय लेगी। उन्होंने 27 मई को बहल में होने वाली किसान महापंचायत के लिए भाकियू पदाधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी। महापंचायत के लिए भाकियू पदाधिकारी सोमवार से जिले के गांवों में जनसंपर्क अभियान चलाएगी। मंडी स्थित किसान विश्राम गृह में आयोजित बैठक के दौरान भिवानी जिला उपप्रधान महावीर सहारण, भूप सिंह दलाल, जगदेव, हवा सिंह, अशोक अमीरवास, अजीत कारी, रोहित फौगाट, वेद प्रकाश फौजी, प्रवीण चिड़िया, राजकुमार, राजेश इत्यादि उपस्थित थे।

आगामी शेड्यूल के नहीं आए है निर्देश

मंडी सुपरवाइजर रामकिशन ने कहा कि सरसों बिक्री के लिए पंजीकरण करवाने वाले सभी किसानों से शेड्यूल के अनुसार सरसों की खरीद की जा चुकी है। आगामी सरसों खरीद के शेड्यूल व मेन्यूअल खरीद के बारे में मार्केट कमेटी के पास अभी तक कोई निर्देश नहीं आए है।

मार्केट कमेटी ने पूरा किया ई-ऑक्शन कार्य

मंडी सुपरवाइजर रामकिशन ने बताया कि मार्केट कमेटी ने खरीद एजेंसी द्वारा लौटाए गए फार्मो का ई-ऑक्शन का कार्य पूरा करवा दिया है। सोमवार को किसानों के फार्म दी जमींदारा सहकारी समिति को भेजकर आई फार्म व जे फार्म जनरेट करवा दिया जाएगा। जिसके बाद किसानों के बैंक खाते में खरीदी गई सरसों का भुगतान होगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस