जागरण संवाददाता, चरखी दादरी :

दादरी की नई अनाज मंडी स्थित दो फर्मों द्वारा धोखाधड़ी से प्रभावित जिले के दर्जन भर गांवों के किसान रविवार को दादरी मार्केट कमेटी कार्यालय पहुंचे। किसानों ने आढ़तियों को दी गई फसल व उसके बकाया भुगतान से संबंधित सबूत मार्केट कमेटी कार्यालय में जमा करवाए। शनिवार को दादरी जिला उपायुक्त ने कमेटी गठित कर किसानों के बकाया भुगतान से संबंधित दस्तावेजों की जांच करने के निर्देश दिए थे।

स्थानीय अनाज मंडी मे काम करने वाली किरोड़ी मल रामकुमार व जय दादा गोसाई ट्रेंडिग कंपनी ने जिले के सैकड़ों किसानों की फसलों का भुगतान नहीं किया। किसानों के साथ धोखाधड़ी कर फसलों का भुगतान किए बिना आढ़ती रातोंरात परिवार सहित गायब हो गए थे। इसके बाद किसानों ने शुक्रवार को मंडी में रोष जताकर डीसी से शिकायत की थी। डीसी ने किसानों से कुछ समय बाद सोच विचार कर मामले में आगामी प्रक्रिया को अमल मे लाने का आश्वासन दिया था। उसी के तहत शनिवार को एसडीएम की अध्यक्षता में कमेटी गठित कर किसानों के बकाया भुगतान के सबूत एकत्रित करने के निर्देश दिए थे। रविवार को फसलों के बकाया भुगतान से संबंधित किसानों को स्थानीय मार्केट कमेटी कार्यालय बुलाकर उनके दस्तावेज जमा करवाए। किसानों के द्वारा जमा करवाए गए बकाया भुगतान के सबूतों की जांच के बाद आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। नकद देने वाले किसानों के दस्तावेज नहीं हुए जमा

किसानों के साथ धोखाधड़ी करने वाले आढ़तियों की ओर किसानों की करोड़ों की राशि बकाया थी। इसमें किसानों की मौजूदा सीजन से लेकर बीते दो से तीन साल तक का हिसाब बकाया था। इसके अलावा दर्जनों किसानों से आढ़तियों ने ब्याज पर नकद राशि उधार ली थी। इसके सबूत भी किसानों के पास मौजूद हैं, लेकिन मार्केट कमेटी कार्यालय में किसानों से केवल फसलों के बकाया भुगतान से संबंधित ही दस्तावेज जमा करवाए गए हैं। जांच के बाद होगी आगे की कार्रवाई

आढ़तियों द्वारा धोखाधड़ी से प्रभावित पीड़ित किसानों ने अपने सबूत जमा करवाए। किसानों ने आढ़तियों को फसल कब और कितनी मात्रा में थी इस से संबंधित सबूत मार्केट कमेटी कार्यालय मे जमा करवाकर फसलों का भुगतान बकाया होने का दावा किया। मार्केट कमेटी सचिव बसंत कुमार ने बताया कि किसानों के बकाया भुगतान से संबंधित दस्तावेज जमा करने का कार्य जारी है। उन्होंने कहा कि लगभग 230 किसानों द्वारा बकाया भुगतान के सबूत जमा करवाए जाने का अनुमान है। दस्तावेज जमा करने का कार्य पूरा होने पर वे इन्हें मामले में गठित कमेटी को सौंप देंगे। इसके बाद कमेटी द्वारा जांच किए जाने के बाद आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस