फोटो : 11बीडब्ल्यूएन 19 जेपीजी

जागरण संवाददाता, भिवानी: चौधरी बंसी लाल विश्वविद्यालय के बायोटेक्नोलॉजी विभाग द्वारा सर्वपल्ली राधाकृष्णन सभागार में डॉक्टर कश्यप कुमार दुबे ने बायोप्रोसेस इंजीनियरिग विषय पर व्याख्यान दिया। वे सेंट्रल यूनिवर्सिटी ऑफ हरियाणा महेंद्रगढ़ में बायोटेक्नालॉजी विषय के विभागाध्यक्ष हैं। कार्यक्रम में बायोटेक, बोटनी, जूलॉजी एवं फार्मास्यूटिकल साइंस के लगभग डेढ़ सौ विद्यार्थी उपस्थित थे। उन्होंने बताया कि बायोप्रोसेस इंजीनियरिग के द्वारा कई तरह की उपयोगी प्रोडक्ट जो एग्रीकल्चर फार्मास्युटिकल्स फूड इंडस्ट्रीज में बनाए जा सकते हैं, विस्तार में उन्होंने एंटी कैंसर एजेंट कोलचीसीन के उत्पादन के बारे में भी बताया। उन्होंने यह भी बताया कि बायोप्रोसेस इंजीनियरिग के बिना किस तरह से दवाइयां न बन पाने के कारण रोगों के उपचार में अवरोध होगा उन्होंने फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्रियल वेस्ट ट्रीटमेंट के तरीकों पर भी प्रकाश डाला। इस अवसर पर विभागाध्यक्ष प्रोफेसर संजीव कुमार ने डा. कश्यप कुमार दुबे का स्वागत करके उनका परिचय दिया। डा. अखलाक अहमद खान ने सभी को डा. कश्यप कुमार दुबे की वैज्ञानिक उपलब्धियों से अवगत कराया। इस अवसर पर डीन शैक्षणिक मामले प्रोफेसर ललिता गुप्ता, डा. मोनिका मिगलानी, डा. अश्वनी कुमार, डा. नीति चावला, डा. आशा, डा. पार्वती, डा. मोनिका जांगड़ा, डा. धीरेंद्र मिश्रा, जया, मोनिका और सुधा आदि सभी प्राध्यापक उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran