संवाद सहयोगी, बाढड़ा : गांव लाडावास में शुक्रवार को गर्मी से बचने के लिए खेत में बनाए गए पानी के टैंक में नहाने गए 13 वर्षीय छात्र की डूबने से मौत हो गई। रात को छात्र घर नहीं लौटा तो परिजनों ने उसकी तलाश की। उसके दोस्तों ने घटना की जानकारी दी। सूचना मिलने पर परिजन और पुलिस लाडावास वाटर टैंक पर पहुंचे और वाटर टैंक से शव को बाहर निकाला गया। पुलिस ने फिलहाल इत्तेफाकिया मौत का मामला दर्ज किया है। पुलिस ने हुए शव को दादरी के सामान्य अस्पताल में पोस्टमार्टम करवा कर परिजनों को सौंप दिया। गांव पहाड़ी निवासी 13 वर्षीय अंकित अपने मां के साथ मामा के घर यहां लाडावास में ही रहता था। वह गांव के ही सरकारी स्कूल में सातवीं कक्षा का छात्र था। शुक्रवार को स्कूल की छुट्टी हुई तो वह घर आया और साथ पढ़ने वाले मोहित व प्रीतम के साथ गांव के किसान रघुवीर नंबरदार के खेत में बने वाटर टैंक में नहाने के लिए चला गया। वहां पर जैसे ही अंकित नहाने के लिए वाटर टैंक में उतरा तो उसका पैर फिसल गया और गहरे पानी में चला गया। पानी गहरा था और अंकित को तैरना नहीं आता था। जिसके चलते वह पानी में डूब गया। उसके साथ गए उसके दोनों दोस्त डर गए और चुपचाप घर चले आए। जैसे ही शाम हुई तो परिजनों ने अंकित की तलाश शुरू की। तलाश करने पर उसके दोस्तों से पूछताछ की तो उन्होंने घटना की जानकारी दी। सूचना मिलने पर बाढड़ा थाना प्रभारी रामअवतार टीम के साथ रात को ही वाटर टैंक पर पहुंचे। मृतक अपने परिवार में चार भाई-बहनों में सबसे छोटा था।

बाक्स-:

रातभर टैंक खाली कर सुबह खोजा शव

बागवानी के लिए निर्मित वाटर टैंक में पानी ज्यादा होने के चलते पहले रात को इंजन और बिजली मोटर से पानी को टैंक से निकाला गया। टैंक में पानी कम हुआ तो ग्रामीणों की मदद से छात्र के शव को बाहर निकलवाया गया। सूचना मिलने पर किशोर पहाड़ी निवासी धर्मपाल परिजनों के साथ लाडावास पहुंचे और मामले की जानकारी ली। थाना प्रभारी रामअवतार ने बताया कि शव को वाटर टैंक से बाहर निकलवा लिया गया है। मामले में परिजनों के बयान पर इत्तेफाकिया मौत का केस दर्ज कर कार्रवाई अमल में लाई गई है। शव का दादरी सिविल अस्पताल में पोस्टमार्टम करवा कर शव परिजनों को सौंप दिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस