जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़ :

वैक्सीन न लगवाने वालों पर सख्ती का असर सोमवार को सार्वजनिक स्थलों पर भी दिखा और वैक्सीनेशन केंद्रों पर भी। अब तक जो वैक्सीन से किनारा कर रहे थे, उनको किसी भी सार्वजनिक स्थल पर प्रवेश नहीं मिला। इससे वे टीका लगवाने को मजबूर हो गए। इससे वैक्सीनेशन केंद्रों पर लाइन बढ़ गई। सिविल अस्पताल में वैक्सीन लगवाने पहुंची 77 वर्षीय राजबाला बैंक में अपनी पेंशन लेने गई थी। वहां पर प्रवेश नहीं मिला तो घर से सीधे सिविल अस्पताल पहुंची और टीका लगवाया। इसी तरह के कारणों से अन्य लोगों ने भी वैक्सीन लगवाई। 15 साल और इससे अधिक उम्र वाले बच्चों को वैक्सीन लगवाने के लिए स्कूलों से भी मैसेज आए। ऐसे में सिविल अस्पताल में सोमवार को अन्य दिनों के मुकाबले कई गुना लंबी लाइन दिखी। बिना मास्क के काटे चालान:

कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। सोमवार को थाना शहर पुलिस ने दिल्ली-रोहतक रोड सहित अन्य मार्गों पर बिना मास्क के बाजारों में घूमने वालों के चालान काटे। साथ ही उन्हें भविष्य में फेस मास्क लगाने व शारीरिक का पालन करने की हिदायत दी। यह अभियान डीएसपी पवन कुमार के नेतृत्व में चलाया गया। बिना फेस मास्क के 12 चालान किए गए। एक बार फिर कोरोना संक्रमण के केस बढ़ने शुरू हो गए। पुलिस ने हिदायत दी कि घर के बाहर निकलते वक्त मास्क जरूर लगाए। थाना शहर प्रभारी निरीक्षक विजय कुमार ने कहा कि मास्क के साथ-साथ नो पार्किग जोन में खड़ी गाड़ियों के भी चालान काटे गए।

Edited By: Jagran