जागरण संवाददाता, झज्जर : एमपीएचडब्ल्यू कर्मचारियों ने मंगलवार को हड़ताल के 16वें दिन शहर में एक बार फिर जोरदार प्रदर्शन करते हुए सरकार के प्रति अपना विरोध दर्ज करवाया। चंडीगढ़ में कर्मचारियों पर पुलिस द्वारा किए गए लाठीचार्ज पर भी कर्मचारियों ने रोष प्रकट करते हुए बुधवार को काला दिवस मनाने और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज का पुतला फूंकने का ऐलान किया हैं। गुस्साएं कर्मचारियों का कहना था कि कर्मचारी अब आर-पार के मूड में है। चूंकि सरकार ने मुकदमे दर्ज कर और बर्खास्तगी के नोटिस जारी करके देख भी लिया है। जब तक उनकी मांगों के पूरा करने का नोटिफिकेशन जारी नहीं होता हड़ताल जारी रहेगी। एसोसिएशन के पदाधिकारी वेदपाल धौड़ और संदीप राठी ने कहा कि विधानसभा कूच की ओर जा रहे कर्मचारियों पर लाठी चार्ज करना और आंसू गैस के गोले फैंकना अत्याचार है। जिसकी जितनी ¨नदा की जाए कम है। जिसके विरोध में सर्व कर्मचारी संघ के साथ मिलकर बुधवार को काला दिवस मनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं कि जाती तब तक सभी स्वास्थ्य सेवाएं जिसमें मलेरिया, टीबी, टीकाकरण, गर्भवती महिलाओं का रजिस्ट्रेशन और चेकअप बंद रखा जाएगा।

वहीं, सर्वकर्मचारी संघ के जिला प्रधान जयपाल गुढ़ा ने बताया कि सरकार जल्दी से जल्दी एमपीएचडब्ल्यू कर्मचारियों की मांगों का नोटिफिकेशन जारी कर दे नहीं तो सर्वकर्मचारी संघ सभी विभागों को मैदान में उतार कर एक बहुत बड़े आंदोलन को मजबूर हो जाएगा। जिसकी जिम्मेवारी सरकार की होगी। उन्होंने आशावर्करों द्वारा भी हड़ताल का समर्थन करने और टीकाकरण में भाग नहीं लेने की बात कही।

Posted By: Jagran