जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़ :

शहर की मंडी में अब सरसों की आवक तो बंद हो गई मगर गेहूं की नाम मात्र आवक अभी भी जारी है। मार्केट कमेटी की ओर से बचे हुए किसानों का पिछले सप्ताह सरसों की बिक्री के लिए शेड्यूल जारी किया गया था। अब लगभग सभी किसान अपनी फसल बेच चुके हैं। गेहूं की अभी आवक हो रही है।

सरकार की ओर से लिखित तौर पर अभी फसल की खरीद बंद करने का कोई आदेश जारी नहीं हुआ है। ऐसे में शेड्यूल जारी होने तक खरीद होती रहेगी। इस बीच हैफेड की ओर से मंडी से सरसों का शेष उठान कार्य तेज कर दिया गया है। लॉकडाउन के कारण पिछले दिनों कामगारों की कमी से ही उठान कार्य धीमा था। इसी कारण अभी तक मंडी में डेढ़ हजार से ज्यादा बोरियां प्लेटफार्म पर रखी हैं। इतनी ही संख्या में बोरियों का उठान एक दिन पहले ही हुआ है। 20 दिनों से ज्यादा का भुगतान बकाया

इस बार खरीद केंद्र तो कई जगह बनाए गए, मगर जल्द से जल्द किसानों को भुगतान का दावा पूरा नहीं हो पाया। सरसों की खरीद का भी एजेंसी की ओर से किसानों को 4 मई तक का ही भुगतान किया गया है। उसके बाद हुई खरीद का बकाया है। वहीं गेहूं की खरीद आढ़तियों के माध्यम से हो रही है। उसका भी अभी तक पूरा भुगतान नहीं हुआ है। आढ़तियों का कहना है खरीद एजेंसियों को किसानों का ख्याल करना चाहिए। अभी सरसों की खरीद का कोई शेड्यूल नहीं है। आवक अब बंद हो चुकी है। मंडी में जो बोरियां रखी हैं, उनका उठान करवाया जा रहा है। 4 मई के बाद की खरीद का जो भुगतान बकाया है, वह जल्द ही निपटाया जाएगा।

-जयप्रकाश, मैनेजर हैफेड।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस