मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जेएनएन, बहादुरगढ़ (झज्जर)। छिल्लर-छिकारा खाप ने सामाजिक कुरीतियों पर रोक के लिए कई कदम उठाए हैं। खाप की पंचायत में फैसला किया गया है कि शादियां दिन में होंगी। इनमें आतिशबाजी, फायरिंग व शराब का इस्तेमाल नहीं होगा। काज समारोह पर भी प्रतिबंध लगा दिया है। यह खाप अब भविष्य में न तो कोई काज करेगी और न ही किसी दूसरी खाप के काज में शामिल होगी।

छिल्लर-छिकारा खाप की पंचायत में हुए कई निर्णय

खाप की तीन गांवों में हुई पंचायत में इसके साथ ही कई अन्‍य फैसले किए गए। पहले खाप ने जो फैसले लिए थे, उनसे सभी को अवगत कराने के लिए हर रविवार को खाप से जुड़े गांवों में पंचायतों का सिलसिला चल रहा था। रविवार को यह खत्म हो गया। इस दिन लडरावण, खैरपुर व मुकुंदपुर में पंचायत हुई।

खाप पंचायत में किए गए फैसलों पर के सभी गांवों ने मुहर लगाई। पंचायत में छिल्लर खाप से बलवान सिंह, डा. हरिकिशन छिल्लर व छिकारा से शिवनारायण, बिजेंद्र, राजू प्रधान, रामकिशन प्रधान सहित काफी संख्‍या में लोग मौजूद रहे।

ये फैसले किए गए-

- किसी भी उत्सव में डीजे नही बजेगा।
- दिन के समय शादियां होंगी। उनमें आतिशबाजी, फायरिंग व शराब का इस्तेमाल नही होगा।
- छिल्लर-छिकारा गोत्र के भानजे-भानजी की आपस में शादी नही होगी।
- शादी में दामाद अब अपने साले को माला नहीं पहनाएंगे
- चौधरी, दामाद व भानजे को सामूहिक तौर पर शगुन दिया जाएगा।
-------

मानुषी के लिए ओलंपिक विजेता जैसा सम्मान चाहती है खाप

मिस वर्ल्‍ड  मानुषी छिल्लर के लिए छिल्लर-छिकारा खाप ओलंपिक के स्वर्ण विजेता जैसा सम्मान चाहती है। इसके साथ ही खाप यह भी चाहती है कि सरकार मानुषी की सफलता से प्रेरित होकर इस इलाके में लड़कियों के लिए कोई बड़ा शिक्षण संस्थान स्थापित करे। मानुषी के स्वागत की तैयारियों में जुटी दिल्ली व हरियाणा के 11 गांवों से जुड़ी छिल्लर-छिकारा खाप ने पंचायत आयोजित करके अपनी यह इच्छा जाहिर कर दी है।

खाप की ओर से डा. हरिकिशन छिल्लर ने कहा कि इस इलाके में मानुषी के लिए प्रदेश स्तरीय सम्मान समारोह आयोजित किया जाए और उसमें मुख्यमंत्री मनोहर लाल शामिल हों। इसके लिए खाप जल्द ही मुख्यमंत्री व मानुषी से मुलाकात करके समय तय करेगी। बता दें कि मिस वर्ल्‍ड मानुषी छिल्लर मूल रूप से बहादुरगढ़ के गांव बामनौली की रहने वाली हैं।

-----

'' सामाजिक कुरीतियों को बंद करने को लिए खाप की ओर से कई फैसले गए हैं। परंपरा के नाम पर किसी तरह का दिखावा नही होना चाहिए। अपने इन फैसलों पर खाप अडिग रहेगी। उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई होगी।

                                                                                             - डा. हरिकिशन छिल्लर, खाप प्रवक्ता।






 

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप