जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़ :

शहर में भैया दूज के पर्व पर भी भीड़भाड़ का माहौल रहा। शहर की सड़कों पर रह-रहकर जाम की स्थिति बनती रही। ऐसे में शहर की चंद मिनटों की दूरी को पार करने में आधे घंटे से भी ज्यादा समय लगा। उधर, पुलिस जीरो टोलरेंस में व्यस्त रही।

दरअसल, ट्रैफिक पुलिस के जीरो टोलरेंस अभियान में हर तरह के नियम के उल्लंघन पर चालान काटे जाते हैं। शुक्रवार को पुलिस इस अभियान में जुटी रही, मगर सड़कों पर जाम की स्थिति बनती रही। दीपावली से पहले पुलिस की ओर से जो नाके लगाए गए थे, वे इस दिन भी ज्यों के त्यों रहे, लेकिन सड़कों पर वाहन लेकर निकले लोगों को जाम झेलना पड़ा। बस स्टैंड से लेकर झज्जर मोड़ तक का फासला यूं तो 200 मीटर के आसपास है, लेकिन जाम के कारण वाहन चालकों के लिए यह फासला तय करने में भी पसीने छूट गए। अहम बात तो यह थी कि ट्रैफिक पुलिस का पूरा अमला इस दिन सड़कों पर ही था, बावजूद इसके वाहन उलझे रहे। पुलिस का ज्यादा ध्यान जीरो टोलरेंस पर ही रहा। वर्जन..

सड़कों पर यातायात व्यवस्थित करने के लिए पूरा पुलिस अमला तैनात किया गया था। नाके भी ज्यों के त्यों थे। नियमों का उल्लंघन रोकने के लिए पुलिस ने जीरो टोलरेंस पर काम किया। त्यौहार के कारण वाहन ज्यादा रहे। इसी कारण कुछ देर सड़कों पर ट्रैफिक बढ़ गया।

--अशोक कुमार, एसएचओ, ट्रैफिक पुलिस।

Posted By: Jagran