जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़:

क्षेत्र के गाव दुल्हेड़ा स्थित आशानंद आशिया धाम के महत पर मंगलवार सुबह करीब छह बजे तीन युवकों ने पिस्तौल के बट से हमला कर दिया। तीनों युवकों ने महत से मोबाइल व 35 हजार रुपये की नकदी छीन ली और उसे धाम में बने एक कमरे में बंद कर फरार हो गए। घायल महत ने अपने आप को बंधनमुक्त करके इसकी सूचना पुलिस को दी। घायल महत को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने इस संबंध में केस दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी है। इस वारदात से धाम के अनुयायियो में रोष है।

पुलिस को दी शिकायत में दुल्हेड़ा निवासी महावीर नाथ ने बताया कि वह करीब चार साल से गाव के आशानंद आशिया धाम की गद्दी पर विराजमान है। हर रोज की तरह वह मंगलवार सुबह धाम में धुना लगा रहा था। धाम में संत वेदानंद रमताधाम स्नान कर रहा था। करीब छह बजे धाम के मुख्य गेट पर एक बाइक आकर रुकी। बाइक पर से तीन युवक उतरे और भीतर आ गए। जब महावीर नाथ आराम कक्ष का दरवाजा खोल रहे थे तो इसी दौरान इन तीनों में से एक युवक ने उसे पीछे से पकड़ लिया और दूसरे ने पिस्तौल का बट सिर में मार दिया। सिर में चोट लगते ही रक्त बहने लगा और वह नीचे गिर गया। तीनों युवको ने उनसे छीना झपटी शुरू कर दी। उनसे मोबाइल छीन लिया और भीतर रखे करीब 35 हजार रुपये निकाल लिए। इसके बाद तीनों युवक उसे घसीट कर विश्राम कक्ष के साथ बने कमरे में ले गए और उसे वहा बंद कर दिया। कुछ देर बाद अनुयायी आए तो दरवाजा खोला जा सका। महत की हालत देखकर तमाम अनुयायी धाम में एकत्र हो गए और ग्रामीणों में भी रोष पनप गया। गाव के सरपंच संजय भी सूचना मिलते ही मौके पर पहुचे। वेदानंद व अन्य सेवकों ने महत महावीर नाथ को शहर के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया।

उधर, सूचना मिलने पर सदर थाना पुलिस ने भी मौके का मुआयना किया। पुलिस ने महत की शिकायत पर अज्ञात युवकों के खिलाफ मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

------

दुल्हेड़ा धाम के महत की शिकायत पर आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर जाच शुरू कर दी गई है। तीनों युवकों की तलाश की जा रही है। जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

----जसबीर सिंह, प्रभारी- सदर थाना बहादुरगढ़।

Posted By: Jagran