जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़ : सरकारी नियमों का फेर डाक्टरों को सरकारी अस्पताल से दूर कर रहा है। बहादुरगढ़ के सिविल अस्पताल से नेशनल हेल्थ मिशन (एनएचएम) के तहत कार्यरत एक और बाल रोग विशेषज्ञ इमरजेंसी व पोस्टमार्टम में ड्यूटी से परेशान हैं विशेषज्ञ डा. ललित गुप्ता ने इस्तीफा दे दिया है। अस्तपाल प्रशासन ने मंजूरी के लिए गुप्ता का इस्तीफा सरकार को भेज दिया है। इस्तीफे के पीछे डाक्टर गुप्ता का तर्क है कि पहले प्राइवेट प्रैक्टिस को लेकर कोई बंदिश नहीं थी, मगर अब इस पर मनाही की जा रही है।

इसी विभाग में कार्यरत महिला डाक्टर पहले से बगैर सूचना के लंबी छुट्टी पर हैं। ऐसे में डाक्टरों के बिना अस्पताल ही बीमार हो रहा है। कई डाक्टर छोड़ चुके हैं नौकरी :

बहादुरगढ़ के सिविल अस्पताल में डाक्टरों के 55 पद स्वीकृत हैं। उनमें से 37 पर नियुक्ति हुई, लेकिन इनमें से पांच तो बिना सूचना के ही गैर हाजिर चल रहे हैं। तीन ने पहले इस्तीफा दे दिया। एक डाक्टर पीजी कोर्स के लिए गए हैं। एक डाक्टर पिछले दिनों एक केस में गिरफ्तार हो गए थे। ऐसे में बाकी रह गए 27 चिकित्सक। इनमें से भी तीन और डाक्टरों ने नौकरी छोड़ने की सूचना दे दी है। ऐसे में डाक्टरों के लिए इमरजेंसी, ओपीडी, पोस्टमार्टम, वीआइपी ड्यूटी का जिम्मा संभालना मुश्किल साबित हो रहा है। ज्वाइनिंग के समय नहीं थी प्राइवेट प्रैक्टिस से मनाही

बाल रोग विशेषज्ञ डा.गुप्ता यहां पहले स्थायी तौर पर कार्यरत थे। उन्होंने नौकरी छोड़ प्राइवेट क्लीनिक खोला। बाद में सरकारी अस्पताल में एचएचएम के तहत अनुबंध आधार पर नौकरी ज्वाइन की। डा. गुप्ता के अनुसार तब यह जिक्र ही नहीं था कि प्राइवेट प्रैक्टिस करेंगे या नहीं। मगर नॉन प्रैक्टिस अलाउंस भी नहीं मिलता था। अब कहा जा रहा है कि प्राइवेट प्रैक्टिस नहीं कर सकते इसलिए मैने इस्तीफा दे दिया है।

वर्जन..

एनएचएम के तहत जो नियम हैं, उनके अनुसार ही डाक्टरों से ड्यूटी ली जा रही है। ऐसे में कोई नौकरी नहीं करना चाहता तो यह उनकी अपनी मर्जी है।

--डा. देवेंद्र मेघा, प्रशासक, सिविल अस्पताल बहादुरगढ़ डा. ललित गुप्ता का इस्तीफा उच्चाधिकारियों को भेज दिया गया है। अस्पताल में इस समय डाक्टरों की काफी जरूरत है।

-डा. मुकेश इंदौरा, कार्यवाहक पीएमओ, सिविल अस्पताल बहादुरगढ़

----------------------------

प्रदीप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस