बहादुरगढ़, (विज्ञप्ति): पिछड़ा वर्ग समाज के स्थानीय नेताओं ने राज्य सरकार से बहादुरगढ़, बावल, झज्जर व नांगल चौधरी नगर परिषद व नगर पालिकाओं के अध्यक्ष पद अपने समाज के लिए ही आरक्षित रखते हुए चुनाव करवाने की मांग की है। इन नेताओं ने वीरवार को बैठक कर मामले पर मंथन किया। शहर में गौरिया पर्यटन केंद्र में हुई बैठक में नगर परिषद अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने के इच्छुक कई स्थानीय नेताओं ने भाग लिया। बैठक में चुनाव लड़ने के इच्छुक सभी नेता भारतीय जनता पार्टी के टिकटार्थी थे। इन नेताओं में जिला भाजपा पिछड़ा मोर्चा के अध्यक्ष धर्मबीर वर्मा, पूर्व नगर पार्षद जसबीर सैनी व राजपाल शर्मा, सुनील जांगड़ा, विनोद यादव व रामकंवार सैनी शामिल थे। इन भाजपा नेताओं ने कहा कि राज्य में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाने में पिछड़ा वर्ग का बड़ा योगदान रहा है। इसके अतिरिक्त समस्त समाज और देश-प्रदेश के विकास में भी इस समाज की भूमिका कभी कम नहीं रही। भाजपा व राज्य सरकार की नीतियों व उपलब्धियों का भी वे लगातार प्रचार कर रहे हैं। इसलिए इन चारों पालिका/परिषदों के अध्यक्ष पदों पर पिछड़ा वर्ग का हक बनता है। दूसरे वर्गों को भी इस बार पिछड़ा वर्ग समाज को ही मौका देना चाहिए। भाजपा के इन नेताओं ने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश धनखड़ से आग्रह किया है कि ओबीसी वर्ग का मान सम्मान रखते हुए इन पालिका व परिषदों के चेयरमैन पदों के लिए पिछड़ा वर्ग का आरक्षण बहाल रखा जाए। इस वर्ग की अनदेखी हुई तो सभी को निराशा होगी।

Edited By: Jagran