जागरण संवाददाता, झज्जर : नोटबंदी के दो वर्ष पूरे हो जाने की वर्षगांठ को कांग्रेसियों ने काला दिवस के रूप में मनाया। शुक्रवार को यहां राष्ट्रव्यापी विरोध प्रदर्शन के तहत झज्जर जिला मुख्यालय पर पार्टी कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंकते हुए अपना जोरदार ढंग से विरोध दर्ज कराया।

हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव एवं झज्जर जिला प्रभारी बलजीत कौशिक के नेतृत्व में भाजपा सरकार के फैसले के खिलाफ पहले तो इन्होंने जोरदार प्रदर्शन किया। बाद में पुतला फूंकते हुए केंद्र सरकार की नीतियों को जन विरोधी करार दिया। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के नाम पर जो कुछ भी हुआ वह आज सभी के समक्ष है। औद्योगिक इकाइयां बंद हो चुकी है और व्यापारी भूखमरी के कगार पर है। कारोबार की स्थिति बद से बदतर हो चुकी है।

प्रो. कुलताज ¨सह ने कहा कि नोटबंदी ने देश की अर्थव्यवस्था की कमर तोड़कर रख दी है। जीडीपी नीचे जा रही है। जिसके कारण आज कई लाख नौकरियां चले जाने के बाद देश में काफी हद तक बेरोजगारी बढ़ गई है । बादली क्षेत्र के कांग्रेसी नेता भूदेव गुलिया ने बताया कि एक सोची समझी साजिश के तहत यह पूरी प्रक्रिया देशवासियों के समक्ष इस ढंग से रखी गई कि धरातल पर होने वाला कारोबार तथा कारोबारी दोनों समाप्त होने के कगार पर है। व्यापारी के हालात यह है कि वह आज अपने बच्चों का भरण पोषण भी ठीक ढंग से नहीं कर पा रहा। बहादुरगढ़ से आए कांग्रेस नेता राजेश जून ने कहा कि भाजपा सरकार के गलत फैसलों के कारण आज विद्यार्थी ,किसान,व्यापारी ,कर्मचारी, महिलाएं सड़कों पर उतर चुके हैं। इससे पूर्व कांग्रेसी टाउन पार्क में एकत्र हुए। उसके बाद जोरदार ढंग से प्रदर्शन करते हुए आंबेडकर चौक पर पहुंचे। यहां उन्होंने सरकार का पुतला फूंकते हुए अपना विरोध दर्ज कराया।

इस मौके पर मुख्य रूप से कांग्रेस पार्टी के प्रदेश महासचिव प्रोफेसर कुलताज, बार एसोसिएशन के अध्यक्ष कृष्ण कादयान, उदय भान पूनिया, राजेश जून, अधिवक्ता भूदेव गुलिया, श्याम सिलाना, डा. संदीप सैनी, मोनू गुलिया, महाबीर कटारिया, रमेश माजरा, सतीश धनखड़, सुरेन्द्र जाखड़, दीपक धनखड़, हेमंत दहिया, धर्मवीर कल्सन, मास्टर प्रदीप दलाल, अनुज किराड़, संदीप यादव, धनपति गोच्छी, पूनम, विधावती, लक्ष्मी, ज्ञान ¨सह डीघल, निरंजन डीघल, धर्म ¨सह रणखंडा आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran