जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़:

कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है, लेकिन स्वास्थ्य विभाग के इंतजाम अभी तक पूरे नहीं हुए है। बहादुरगढ़ के सिविल अस्पताल में आइसीयू का निर्माण पूरा नहीं हो रहा है। एसडीएम भूपेंद्र सिंह ने वीरवार को स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ ट्रामा सेंटर भवन में बनाए जा रहे इंटेंसिव केयर यूनिट (आइसीयू) के निर्माण का जायजा लिया तो यहां कार्य में काफी खामियां मिली थी। एसडीएम ने मौके पर ही लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के जेई व ठेकेदार को फटकार लगाई थी और नगर परिषद के एमई से 24 घंटे में रिपोर्ट मांगी थी। एसडीएम का कहना है जब तक सब कुछ ठीक नहीं होता, तब तक भुगतान नहीं होगा। काम संतोषजनक न होने पर पैसे भी काटे जाएंगे। नप के एमई ने सौंपी रिपोर्ट, 10 खामियां गिनाई :

एसडीएम के निर्देश पर नगर परिषद के एमई अमन कुमार की ओर से आइसीयू के कार्य को लेकर रिपोर्ट सौंपी गई। इनमें 10 जगहों पर खामियां मिली। इनमें से तीन प्रमुख थी। सबसे पहले फ्लोर की थी। जहां पर कारपेट ठीक तरह से नहीं लगा था। दूसरा जो शौचालयों के दरवाजे थे, वे पारदर्शी लगा रखे थे। स्लैब पर ग्रेनाइट ठीक तरह से नहीं लगा था। इसके अलावा जो खामियां थी, वे कहीं पर टाइलों की थी और कहीं पर अन्य कार्यों की। फ्लोर ठीक करने के लिए कहा गया है। दरवाजे बदले जा रहे हैं। स्लैब का ग्रेनाइट भी उखड़वाया गया है। जो और खामियां हैं, उनको भी दूर करने के लिए कार्य शुरू करवाया गया है। वर्जन..

आइसीयू के निर्माण में जो खामियां थी, वे उपमंडलाधीश के संज्ञान में लाई गई थी। उनकी तरफ से रिपोर्ट लेकर खामियों को दूर करने के निर्देश दिए गए हैं। आइसीयू को जल्द तैयार कराने का आग्रह किया गया है।

--डा. देवेंद्र मेघा, प्रशासनिक अधिकारी सिविल अस्पताल, बहादुरगढ़ आइसीयू को जल्द तैयार कराने और सभी खामियां को दूर करने पर ही पूरा ध्यान केंद्रित है। ठेकेदार को पूरा कार्य जल्द करने के निर्देश दिए गए हैं। जब तक कार्य नहीं होगा, भुगतान भी नहीं होगा। जब आइसीयू चालू हो जाएगा तो फिर से इसका निरीक्षण किया जाएगा। यदि कहीं पर कार्य संतोषजनक नहीं मिला तो पैसे काटे जाएंगे।

-भूपेंद्र सिंह, एसडीएम, बहादुरगढ़

Edited By: Jagran