जागरण संवाददाता, बहादुरगढ़ :

कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीन की दोनों डोज लेने वालों को ही सार्वजनिक स्थानों पर प्रवेश देने का नियम शनिवार से लागू हो गया। सरकारी कार्यालय तो इस दिन बंद रहे लेकिन बस स्टैंड पर यात्रियों की चेकिग हुई। पहले दिन 550 यात्रियों से पूछताछ हुई। इनमें से 437 ऐसे मिलने जिन्होंने दोनों डोज ली हुई है। 96 यात्री केवल पहली डोज लेने वाले थे। जबकि 14 ऐसे मिले जो अभी तक एक भी डोज नहीं ले पाए हैं। ऐसे यात्रियों को बस में सफर से रोका गया और उन्हें सलाह दी गई कि वे जल्द से जल्द अपना वैक्सीनेशन करवाएं। जो यात्री वैक्सीन की पहली डोज ले चुके हैं उनको भी वैक्सीन की दूसरी डोज समय पर लेने के लिए कहा गया। उधर शहर के सिविल अस्पताल में शनिवार को भी लोगों को आगाह किया गया। यहां पर होर्डिंग लगाया गया। इसमें साफ तौर पर चेतावनी दी गई कि मास्क के बिना प्रवेश करने पर 500 रुपये जुर्माना होगा। जो वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके हैं वे ही यहां पर ओपीडी में आए। हालांकि अस्पताल होने के कारण ऐसी सख्ती भी नहीं की जा रही है, क्योंकि इमरजेंसी में किसी को रोका नहीं जा सकता। उधर रेलवे स्टेशन पर इस तरह के नियम का कोई असर नहीं दिखा। यहां पर कोई चेतावनी भी नहीं लिखी गई थी। न ही कोई चेकिग हो रही थी। स्टेशन मास्टर की ओर से इस बारे में हिदायत का नोटिस लगाए जाने की बात कही गई। वहीं सरकारी कार्यालयों में इस तरह के नियम का असर सोमवार से देखने को मिलेगा। वैसे तो प्रशासन की ओर से इस पर सख्ती बरतने की बात कही गई है। सिविल अस्पताल में अब शाम को सात बजे लगेगी वैक्सीन:

नागरिक अस्पताल में वैक्सीनेशन के नोडल अधिकारी डा. सुंदरम कश्यप ने कहा कि कोरोना महामारी से बचाव के लिए वैक्सीनेशन बेहद जरूरी है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना से बचाव की दिशा में टीका निशुल्क लगाया जा रहा है। सभी पात्र टीकाकरण अवश्य कराएं। अस्पताल सहित क्षेत्र की सभी शहरी पीएचसी में सप्ताह के सातों दिन निशुल्क टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध है। नागरिक अस्पताल में दोपहर बाद शाम सात बजे तक फ्री टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध है। डा. सुंदरम ने कहा कि जिन नागरिकों को पहली डोज लग चुकी है, उनको तय समय पर अपने स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए दूसरी डोज लेनी चाहिए। टीकाकरण कोरोना से बचाव का सशक्त माध्यम है। हमें नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर पहुंचकर टीका लगवाते हुए दूसरों लोगों को भी टीकाकरण के लिए प्रेरित करना होगा। उन्होंने कहा कि अगर किसी भी नागरिक को खांसी, जुखाम, बुखार या सांस लेने में तकलीफ महसूस हो रही है तो तुरंत अस्पताल में डाक्टर से परामर्श लें और टेस्ट करवाएं। सात नए केस आए, पांच कंटेनमैंट जोन बने :

जिले मं शनिवार को कोरोना के सात नए किस आए। इनको मिलाकर जिले में अब 18 एक्टिव केस हो चुके हैं। दिसंबर के आखिरी सप्ताह से केस मिल रहे हैं। पिछले एक पखवाड़े के अंदर कुल 21 केस मिले हैं। इनमें से तीन डिस्चार्ज हो चुके हैं। अभी जो 18 एक्टिव हैं, उनमें से एक अस्पताल में भर्ती हे। बाकी होम आइसोलेशन में हैं। पांच कंटेनमैंट जोन बनाए गए हैं।

Edited By: Jagran