जागरण संवाददाता, अंबाला : यमुनानगर के बैंक कालोनी निवासी छोटा हाथी के ड्राइवर सतीश कुमार उपाध्याय (55) की शुक्रवार रात आठ बजे गोली मारकर हत्या कर दी गई। हत्यारे शव को अंबाला-साहा हाईवे स्थित छोटा खुड्डा के पास फेंक रहे थे कि हाईवे चौड़ीकरण में जुटे मजदूरों ने देख लिया। मजदूरों ने उन्हें दौड़ाया तो आरोपित खेत के रास्ते से भाग निकले। मजदूरों की सूचना पर पहुंची महेशनगर थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर छावनी नागरिक अस्पताल भिजवाया। पुलिस ने मृतक के बेटे संदीप कुमार की शिकायत पर हत्या का मामला दर्ज करते हुए जांच शुरू कर दी है। शनिवार को पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजनों को सौंप दिया गया।

संदीप कुमार ने पुलिस को बताया कि वे लोग मूल रूप से सहारनपुर (उत्तरप्रदेश) के पथराला गांव के निवासी हैं। शुक्रवार शाम को पिता सतीश उपाध्याय यमुनानगर में जसवंत कालोनी के निकट स्थित सब्जी मंडी में थे। यहां एक व्यक्ति आया और अंबाला से सामान लाने की बात कह 1800 रुपये में छोटा हाथी बुक किया। आरोपित ने कहा कि जगाधरी से तीन लोगों को भी लेकर जाना है, जो सामान लोड करने में मदद करेंगे। पिता गाड़ी लेकर अंबाला के लिए निकल गए। रास्ते में आरोपितों ने लूटपाट करके पिता की गोली मारकर हत्या कर दी। महेशनगर पुलिस को गाड़ी की तलाशी के दौरान गोली के दो खोल मिले। संदीप ने बताया कि इसी तरह की घटना करीब आठ साल पहले भी हुई थी। उस घटना में यमुनानगर के एक सरदार ड्राइवर को भी हत्यारों ने मौत के घाट उतारकर लूटपाट की थी। पुलिस इस मामले में आरोपितों की तलाश में जुट गई है।

Edited By: Jagran