जागरण संवाददाता, अंबाला :

गरीब की क्या पीड़ा होती इसे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भली भांति जानते हैं, क्योंकि उनके दिलों में गरीब के उत्थान करने का जज्बा है। मोदी जैसी शख्सियत सदियों में एक बार जन्म लेती हैं। हमें उनके जीवन चरित्र से सेवा और समर्पण की सीख लेने की जरूरत हैं। यह बातें राज्य के गृहमंत्री अनिल विज ने सुभाष पार्क में शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 71वें जन्मदिन पर आयोजित पौधारोपण कार्यक्रम के दौरान कही। पौधारोपण कार्यक्रम के बाद हलवे का प्रसाद वितरित किया गया। मोदी के 71वें जन्मदिवस पर 7100 पौधे रोपित किए गए। विज ने कहा कि वितरित किए गए पौधों को लगाना ही काफी नहीं बल्कि उनका पालन-पोषण करना भी अति आवश्यक हैं। विज ने कहा कि पाकिस्तान ने उरी में धोखे से भारतीय सेनाओं पर हमला किया। देश की सेना ने प्रधानमंत्री के नेतृत्व में दुश्मन के घर में घुसकर मार गिराया, चाहे वह पुलवामा अटैक के बाद बालाकोट एयर स्ट्राईक की घटना ही क्यों न हो। प्रधानमंत्री के सशक्त नेतृत्व में हमारी सेना ने तुरंत बाद पाकिस्तान की सीमा में घुसकर उनके अड्डों को ध्वस्त करने का काम किया, ऐसा पहली बार हुआ है। उन्होंने कहा कि उस वक्त के शासकों ने अपरिहार्य कारणों से जम्मू एवं कश्मीर में अनुच्छेद 370 लगाकर उनको विशेष दर्जा दिया। सूझ-बूझ से निकला राम मंदिर के निर्माण का रास्ता। कहा कि अयोध्या में राम मंदिर बनाने के लिए कईं संघर्ष हुए, राम हमारे अराध्य हैं। उन्होंने कहा कि बाबर ने इस मंदिर को बनने नहीं दिया, जो मंदिर वहां था उसे भी तुड़वा दिया था। राम मंदिर के निर्माण के लिए संघर्ष हुए, लड़ाई लड़ी गई, आंदोलन हुए, मैं खुद दो बार अपने साथियों के साथ अयोध्या गया। पहली बार मैं लखनऊ में गिरफ्तार हुआ और 19 दिन तक मुझे उन्नाव जेल में रहना पड़ा। इस मौके पर राजीव डिपल, किरण पाल, अजय पराशर, विजेंद्र चैहान, विजय गुप्ता, रेनू चौहान, नीरू अग्रवाल, पुष्पा वैश्य, अभिकांत वत्स,ज्योति के साथ-साथ भाजपा पार्टी के अन्य पदाधिकारीगण मौजूद रहे।

Edited By: Jagran