डीआरएम ने कमेटी बनाकर मामले की जांच के आदेश

दोपहर साढ़े तीन बजे हुआ हादसा अफसरों में मचा हड़कंप जागरण संवाददाता, अंबाला

छावनी रेलवे स्टेशन से सटे बीसीएन डिपो में शनिवार दोपहर करीब साढ़े तीन बजे दो इंजन आपस में टकरा गए। इंजन टकराते ही एक इंजन बेपटरी होकर बीसीएन डिपो की दीवार में टकराया और पूरी दीवार ही ढह गई। सूचना मिलते ही रेल अफसरों में हड़कंच मच गया और स्टेशन डायरेक्टर से लेकर विभिन्न शाखाओं के अधिकारी व आरपीएफ इंस्पेक्टर भी मौके पर पहुंचे। डीआरएम दिनेश चंद्र को इस मामले की सूचना दी गई तो उन्होंने अफसरों की कमेटी बनाकर इसकी जांच करवाने के आदेश दिए। करीब एक-डेढ़ घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद क्रेनों के जरिये दोनों इंजनों को अलग किया गया और बेपटरी हुए इंजन को पटरी पर लाया गया। टक्कर मारने वाला डीजल इंजन सहारनपुर हेडक्वार्टर का था। हालांकि चालक को इस हादसे में चोट नहीं आई और वह बाल-बाल बच गया।

हुआ यूं कि बीसीएन डिपो में इलेक्ट्रिकल डब्ल्यू-ए-पी-30242 नंबर का इंजन खड़ा था। इसी दौरान सहारनपुर हेडक्वार्टर का डब्ल्यू-डीएम-11233 इंजन नंबर भी डिपो में पहुंचा। लेकिन डब्ल्यू-डीएम-11233 पावर इंजन के चालक सुरेंद्र यादव ने सीधे इलेक्ट्रीकल इंजन में टक्कर मारी। टक्कर लगते ही पावर इंजर बे-पटरी होकर सीधे डिपो की दीवार को ढहा दिया। सूचना पर स्टेशन डायरेक्टर, अधीक्षक, सीडीओ बीसीएन डिपो अंबाला, पीडब्ल्यूआई और आरपीएफ पोस्ट इंचार्ज भी मौके पर पहुंच गए। डीआरएम ने इस मामले में तुरंत संबंधित अधिकारी को मामले की जांच कर संबंधित इंजन के चालक के खिलाफ कार्रवाई के लिए आदेश दिए। वहीं कुछ देर बाद ही क्रेनों के जरिए दोनों इंजन पहले अलग किए गए और बेपटरी हुए इंजन को भी पटरी पर लाया गया।

Posted By: Jagran