जागरण संवाददाता, अंबाला

भारतीय थलसेना गाजियाबाद में कार्यरत जवान परमजीत ¨सह को छावनी की बीडी फ्लोर मिल के पीछे शांति नगर कॉलोनी निवासी दो महिलाओं ने प्लॉट दिलाने के नाम पर करीब 9 लाख रुपये का चूना लगा दिया। पहले तो निर्धारित दिन के मुताबिक दोनों महिलाएं तहसील में रजिस्ट्री करवाने नहीं पहुंची। बाद में उन्होंने बयाने के तौर पर दिए 9 लाख रुपये भी लौटाने से इंकार कर दिया। ऐसे में जवान परमजीत की पत्नी बलजीत कौर ने इस बारे में एसपी को शिकायत दी। आर्थिक अपराध शाखा ने इस मामले में जांच की और अब शनिवार देर शाम शिकायत के आधार पर शांति नगर निवासी मां बेटी अमरजीत कौर व कमलजीत कौर के खिलाफ महेशनगर थाने में केस दर्ज कर लिया।

शिकायत में दयाल बाग निवासी परमजीत ने बताया कि उन्होंने अपने पति की कमाई से एकत्रित हुए रुपये से करधान गांव में मकान खरीदने के लिए मां बेटी से मुलाकात की। इनके बीच 29 नवंबर 2017 को करीब 68 गज प्लॉट के लिए सौदा तय हुआ और करीब 9 लाख रुपये भी दे दिए गए। मकान की रजिस्ट्री की मियाद 30 मार्च 2018 तय की गई थी। जबकि 2 अप्रैल को रजिस्ट्री होनी थी। ऐसे में परमजीत अपने पति के साथ तय समय अनुसार तहसील में रजिस्ट्री के लिए पहुंच गई लेकिन मां-बेटी यहां नहीं पहुंचा। उनसे फोन पर संपर्क किया गया तो वह बहाने बनाने लग गई। इसके बाद जब सेना दंपति ने अपने रुपये मांगे और रजिस्ट्री करवाने के लिए कहा तो उन्होंने इंकार कर दिया। इसके बाद एसपी को मामले की शिकायत दी गई जिसके आधार पर केस दर्ज किया गया।

Posted By: Jagran