संस, शहजादपुर : कोविड केयर सेंटर बड़ागढ कोरोना पाजिटिव मरीजों के लिए वरदान साबित हो रहा है। इस सेंटर में अब तक आये कुल 40 मरीजों में से 33 मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं। एक-एक मरीज को ही नारायणगढ़ तथा अंबाला रेफर करना पड़ा है। जबकि 5 मरीज अभी दाखिल है। कोविड केयर सैंटर में मरीजों की देखभाल के लिए जहां रोस्टर अनुसार डाक्टरों एवं स्वास्थ्य कर्मियों की ड्यूटी लगायी है, वहीं पर वहां की व्यवस्थाओं का जायजा लेने एवं निगरानी रखने के लिए तहसीलदार दिनेश सिंह प्रतिदिन सुबह व सायं के समय कोविड केयर सेंटर का दौरा करते हैं। फेस मास्क है कारगर सुरक्षा कवच : डा.सोमा

संस, नारायणगढ़/शहजादपुर : कोरोना महामारी से बचाव के लिए वैक्सीन जरूरी और मास्क भी सुरक्षा कवच है। मास्क लगाने को लेकर लोगों में अब पहले से कहीं अधिक जागरूकता भी आई है। जो मास्क नहीं लगा रहे हैं और मास्क को सही लगाने की बजाय दिखाने के लिए ही मास्क लगा रहे हैं। ऐसे लोग स्वयं की स्वास्थ्य सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं बल्कि दूसरे लोगों के स्वास्थ्य के लिए भी खतरा पैदा कर रहे हैं। प्रवासी कामगार श्यामजी मुखिया ने बताया कि पंजलासा चौक/लेबर चौक पर जाकर वहां से काम पर जाते हैं। एक दिन काम पर जाते हुए पुलिस ने उन्हें रोक कर मास्क दिया और समझाया। एचएमओ डा.सोमा चक्रवर्ती ने बताया कि कोरोना वायरस से बचने के लिए मास्क पहनना बहुत जरूरी है। इसी से कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है।

Edited By: Jagran