फोटो: 31 - नगरपालिका नारायणगढ़ की चेयरपर्सन रिकी वालिया ने बताया कि पानी एनडीसी की समस्या को जड़ से खत्म करने और प्ले ग्राउंड के अलावा क्षेत्र के दूसरे छोर पर पार्क बनवाने का भी लक्ष्य जागरण संवाददाता, नारायणगढ़/ अंबाला : पति से विरासत में राजनीति मिली और मैदान में इस तरह उतरी की फिर पीछे मुड़कर नहीं देखा। नगरपालिका नारायणगढ़ की चेयरपर्सन रिकी के राजनीतिक करियर की कुछ इसी तरह से शुरुआत हुई। नगरपालिका चेयरपर्सन का पद इस बार आरक्षित रखा गया था। इसीलिए महिला आरक्षित होने के कारण पति के कहने पर चुनावी समर में कूद गई। दैनिक जागरण से बातचीत में रिकी वालिया ने बताया कि जनता ने जिन उम्मीदों के साथ वोट दी, उससे ज्यादा उनकी उम्मीदों पर खरा उतारने का प्रयास किया जाएगा।

नगरपालिका नारायणगढ़ क्षेत्र में वाटर बूस्टर एक ही है। इसीलिए लोगों को बहुत ज्यादा जलसंकट से जूझना पड़ रहा है। इसी संकट को दूर करना सबसे पहले और सबसे बड़ी प्राथमिकता रहेगी। रिकी ने अभी तक बतौर गृहिणी परिवार को बेहतर तरीके से संभाला, उसी तर्ज पर अब सभी वार्डों की प्रधान बनकर उनका दायित्व भी बेहतर तरीके से संभाल सकें, इसका प्रयास किया जाएगा।

--------------------

प्राथमिकताएं

- एनडीसी की समस्या से लोग बहुत परेशान हैं। अवैध कालोनियां बताकर अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी नहीं किया जाता। इसीलिए अब कालोनियों को वैध करवाने का प्रयास किया जाएगा। सदन से प्रस्ताव पास करवाकर यदि जरूरत हुई तो सीएम से भी बातचीत की जाएगी।

- अभी तक एक ही बूस्टर है, अब जरूरत के अनुसार नए बूस्टर स्थापित करवाए जाएंगे,

- नगरपालिका क्षेत्र में अभी तक कोई बड़ा प्ले ग्राउंड नहीं है। ऐसे में अब प्रयास रहेगा कि एक प्ले ग्राउंड सभी के विकास के लिए बनवाया जाए।

- मेरे पति अमित वालिया के कार्यकाल में ही एक पार्क बना था जोकि क्षेत्र के एक छोर पर है, अब क्षेत्र के दूसरे छोर पर पार्क बनवाया जाएगा। अभी रायपुरविरान के पास जगह देखी है। इसके अलावा यदि कहीं इससे भी अच्छी और उपयुक्त जगह मिलेगी तो वहां भी विचार किया जा सकता है

- मीडिया सेंटर का भी वादा मीडिया के साथियों से किया गया था, उसका भी प्रस्ताव हाउस से पास करवाया जाएगा

- सभी वार्डों के समान विकास के लिए फंड उपलब्ध करवाना और विकास सुनिश्चित करवाना भी प्राथमिकताओं में शामिल है।

------------------------ राजनीतिक करियर : रिकी पहली बार चुनावी मैदान में उतरी और जीत दर्ज करवाई। पति अमित वालिया 2013-16 तक नगरपालिका के चेयरपर्सन रहे। अमित के राजनीतिक करियर की शुरुआत 1995 में हुई थी। वह कांग्रेस के यूथ ब्लाक प्रधान से लेकर यूथ स्टेट सचिव तक रह चुके हैं।

-------------

परिवार: रिकी के परिवार में पति अमित वालिया के अलावा बेटे भाग्य व यशवीर, सास कृष्णा वालिया व ससुर सुभाष वालिया के अलावा जेठ अश्वनी, जेठानी सुमन भतीजे शिवांश व दिवांश संयुक्त रूप से एक ही परिवार में रहते हैं।

-------------- शैक्षणिक योग्यता: बीएससी पास हैं, इनसे 9215607555 मोबाइल नंबर पर संपर्क किया जा सकता है।

Edited By: Jagran