---जागरण विशेष---

-बायोमीट्रिक आधारित बैं¨कग की शुरुआत, बैंक शुरू होने से पहले देश के 22 राज्यों में 4.67 लाख लोगों ने खुलवाया खाता

-इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक का दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम से प्रधानमंत्री आज करेंगे शुभारंभ

-तेलंगाना अकाउंट खोलने में टॉप पर, कर्नाटक दूसरे, और हरियाणा 12वें स्थान पर

सुनील बराड़, अंबाला

भारतीय डाक विभाग देशभर में आज से बैं¨कग क्षेत्र में अपना पहला कदम रखेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम से इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (आइपीपीबी) का शुभारंभ करेंगे। देश के 22 राज्यों में अब अंगूठे से आम जनता लेन देन कर सकेगी और बैंक शुरू होने से पहले ही 4.67 लाख करंट अकाउंट भी खुल चुके हैं। देश में एक साथ 650 शाखाओं और 3250 सेवा केंद्रों का शुभारंभ होगा। 31 दिसंबर 2018 तक बैं¨कग क्षेत्र में डाक विभाग 1 लाख 55 हजार शाखाएं खोलकर एक रिकॉर्ड अपने नाम कर लेगा, क्योंकि देश में सरकारी और निजी सभी बैंकों की करीब 40 हजार शाखाएं हैं। आइपीपीबी के खाते खोलने में तेलंगाना राज्य टॉप पर है जहां पर 30 अगस्त तक 89 हजार 180 लोगों ने डाकघर के बैंक में खाता खुलवाया है। कर्नाटक में 45 हजार 411 खातों के साथ दूसरे, मध्य प्रदेश 38 हजार 794 खातों के साथ तीसरे नंबर पर है। रिजर्व बैंक आफ इंडिया से डाक विभाग को बैंक चलाने के लिए पेमेंट बैंक का लाइसेंस मिला है। डाक विभाग हरियाणा परिमंडल के मुख्य पोस्टमाटर जनरल कर्नल सुखराज ने इसकी पुष्टि की है।

------------

नई तरह की बैं¨कग की शुरुआत

देश के सरकारी-निजी बैंक शुल्क लेकर एटीएम, डेबिट और क्रेडिट कार्ड अपने ग्राहकों को देते हैं। खातों से जुड़े मोबाइल नंबर से हैकर और एटीएम बदलकर पैसा उड़ा देते हैं इसीलिए कम पढ़े लिखे लोगों के लिए जोखिम भरा रहता है। आइपीपीबी बायोमीट्रिक आधारित होगा। अकाउंट आधार कार्ड नंबर से खुलेगा और पैसे का लेन-देन ग्राहक का अंगूठा वेरिफाई होने के बाद होगा। आइपीपीबी आपको एटीएम, डेबिट या क्रेडिट कार्ड की बजाए बिना शुल्क के क्यूआर कार्ड देगा। इस पर क्यूआर स्टीकर को स्कैन करके आप अंगूठा लगाएंगे तो आप किसी भी पेमेंट का भुगतान कर सकेंगे। किसी प्रकार की ओटीपी कोड की जरूरत नहीं पड़ेगी। यदि कार्ड गुम हो गया तब भी पैसा सुरक्षित रहेगा।

----------

फाइनेंस मंत्रालय के अधीन है डाक विभाग

डाक विभाग फाइनेंस मंत्रालय के अधीन चलता है और देश के 22 राज्यों में से¨वग अकाउंट, आरडी, एफडी, पीपीएफ अकाउंट, सुकन्या समृद्धि खाता, मासिक आय योजना आदि योजनाएं चला रहा है। डाक विभाग के बैंक में एक लाख तक की अमाउंट जमा होगी। पेमेंट अधिक होने पर वह डाकघर के से¨वग अकाउंट में चली जाएगी। बैंक और डाक विभाग दोनों अकाउंट को ¨लक करेगा।

----------

घर बैठे मिलेगी पेमेंट

आईपीपी बैंक ग्रामीण क्षेत्र में घर बैठे ग्राहकों को पैसा देगा। यदि कोई व्यक्ति घर बैठे नकदी मांगेंगे तो उसे नकदी लेने पर 25 रुपये और पैसा ट्रांसफर कराने पर 15 रुपये लेगा।बैंक के पोस्टमैन और ग्रामीण ग्राम सेवक (जीडीएस) के पास मोबाइल और बायोमीट्रिक डिवाइस होगी। यदि कोई ग्राहक पढ़ लिख नहीं सकता तो मशीन ट्रांसफर और निकाली गई रकम की जानकारी देगी। राज्य का नाम खाता खोले

तेलंगाना 89180

कर्नाटक 45411

मध्य प्रदेश 38764

तमिलनाडू 35558

राजस्थान 33730

आंध्रा प्रदेश 33701

उत्तर प्रदेश 33379

बिहार 32649

महाराष्ट्र 24162

वेस्ट बंगाल 20721

गुजरात 10398

हरियाणा 9901

झारखंड 9662

पंजाब 9465

उड़ीसा 8694

आसाम 5643

हिमाचल प्रदेश 4621

छत्तीसगढ़ 4239

जम्मू एंड कश्मीर 3764

उत्तराखंड 3368

दिल्ली 1839

केरला 877

Posted By: Jagran