कपिल कुमार, अंबाला शहर

जनता से टैक्स वसूलना हो या फिर मकानों के निर्माण की मंजूरी देने वाले मलाईदार विभागों का खजाना खाली पड़ा है। यहीं कारण है कि नगर निगम और हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण बिजली का बिल अदा नहीं कर पा रहा। इस तरह कई विभागों का मिलाकर करीब 23 करोड़ का बकाया खड़ा है। इससे बिजली विभाग राजस्व वसूली में पिछड़ रहा है। इससे बिजली विभाग के कार्य भी प्रभावित हो रहे हैं। बिजली विभाग ने सरकारी विभागों से बिजली बिलों की वसूली के लिए बिलों को पहले ही भेज दिया है। इसमें नगर निगम, हुडा, सिचाई विभाग, पंचायत समेत अन्य विभागों पर करीब 23 करोड़ 72 लाख रुपये का बिजली बिल का बकाया है, जो भुगतान करना है। शासन के सख्त निर्देश है कि बिजली बिलों का शत-प्रतिशत वसूली की जाए। यदि बिलों में गड़बड़ी है, तो सही की जाए। इतना सबकुछ होने के बाद भी सरकारी विभाग समय से बिजली बिल को जमा नहीं किया है। निगम पर बिजली विभाग का 165.19 लाख रुपये का बिल का बकाया है। शहर में निगम की जलने वाली एलईडी और हाईमास्ट लाइटों का बिजली व कार्यालय की बिजली का खर्च हैं। निगम की शहर में 30 हजार एलईडी लाइटें और हाईमास्ट लाइटें लगी है। वहीं हुडा पर करीब 502.33 लाख रुपये का बिजली बिल का बकाया है। बिजली विभाग ने सभी को डिफाल्टर की सूची में रखा है।

विभाग की माने तो सभी सरकारी विभागों पर एक साल का बिजली बिल का बकाया है, जो जमा करना है। वहीं राजस्व वसूली नहीं होने से बिजली विभाग में कार्य भी प्रभावित रहे हैं।

नगर निगम ने एलईडी लाटों का सर्वे शुरू किया

बिजली विभाग ने नगर निगम को बिजली बिल भेज दिया है। इसके बाद निगम ने एलईडी लाइटों और हाईमास्ट लाइटों का सर्वे शुरू कर दिया है। नगर निगम अपनी हर सोडियाम लाइटों का सर्वे कर रहा है, ताकि नगर निगम के बिजली के खर्च का पता लगे। नगर निगम पर बिजली विभाग का करीब 165.19 लाख रुपये का बिजली बिल जमा करना है। इस संबंध में जेई रोबिन ने बताया कि शहर में एलईडी लाइटों का सर्वे किया जा रहा है। इसमें नगर निगम सीमा में शामिल होने वाली गांवों में भी करीब दो हजार नई एलईडी लाइटें लगाई जानी है।

बिजली विभाग का वर्ष 2019 का बिजली बिल का आंकड़ा

माइनर इरिगेशन एंड ट्यूबेल कॉपरेशन 12.50

सिचाई विभाग 82.60

नगर निगम 165.19

पंचायत 2.44

हरियाणा शहरी विकास प्राधिकारण 502.33

अन्य 335.58 नोट- बिजली विभाग के सभी आंकड़े लाख में हैं -----------------------

विभाग ने सभी सरकारी विभागों को बिजली बिल जमा करने के लिए नोटिस भेज दिए है। इन सरकारी विभागों पर बिजली बिल का एक साल का बकाया है, जो जमा करना है।

आरके खन्ना, एसई, बिजली निगम

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस