जागरण संवाददाता, अंबाला शहर: शहर में घरों से कूड़ा उठाने वाली कंपनी के टेंडर के मंजूरी में पेच फंस सकता है। अभी तक मुख्यालय ने डोर-टू-डोर कूड़ा उठाने वाले टेंडर को स्वीकृति नहीं दी है। इसके विपरीत प्रदेश में एक ही कंपनी से घरों से कूड़ा उठाने की एडवाइजरी जारी की है। मुख्यालय में एक ही कंपनी से कूड़ा उठाने के लिए मंथन किया जा रहा है। इस वजह से अभी तक कूड़ा उठाने वाली कंपनी के टेंडर को स्वीकृति नहीं मिली है।

शहर में निगम ने पुरानी कंपनी का करोड़ों रुपये का बकाया भुगतान नहीं किया है। इसलिए कंपनी ने करीब पांच महीने से कूड़ा उठाने काम बंद कर दिया है। वहीं निगम कूड़ा उठाने के लिए यूजर चार्ज का बिल भेज रहा है। इस वजह से घरों से कूड़ा नहीं उठाने से लोग परेशान हैं। ऐसे में लोगों की समस्या के समाधान के लिए घरों से कूड़ा उठाने वाली दो कंपनी को टेंडर किया है। कंपनी के टेंडर को स्वीकृति के लिए मुख्यालय को भेज दिया है। वहीं एक महीना होने के बाद भी मुख्यालय से टेंडर को मंजूरी नहीं मिली है।

अब मुख्यालय ने नई एडवाइजारी जारी की है कि प्रदेश में एक ही मानक की कंपनी को टेंडर के मानक रखे जाए। इसके लिए मुख्यालय स्तर पर विचार किया जा रहा है। इसलिए अभी तक कंपनी के टेंडर को स्वीकृति नहीं दी है। नगर निगम की माने तो मुख्यालय प्रदेश स्तर में एक ही कंपनी को टेंडर देने में मंथन कर रहा है। ऐसे में यदि प्रदेश सरकार एक ही कंपनी को टेंडर जारी करती हैं, तो शहर में अलग कंपनी को टेंडर देने का औचित्य नहीं बनता है। मुख्यालय से घरों से कूड़ा उठाने वाली कंपनी के टेंडर को स्वीकृति नहीं मिली है। वहीं अब मुख्यालय से एक ही कंपनी से कूड़ा उठाने के लिए नई एडवाइजरी जारी की है।

- वीरेन्द्र, कार्यकारी अधिकारी, नगर निगम

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस