अवतार चहल, अंबाला शहर

जिले के एकमात्र टीबी अस्पताल में लगी उधार की मशीन में भी एक्स-रे नहीं हो पा रहे हैं। इसके लिए मरीजों को नागरिक अस्पताल का मुंह देखना पड़ रहा है। अस्पताल की खुद की एक्स-रे मशीन अर्से से खराब है। इसे ठीक कराने की जहमत तक नहीं उठाई गई। इसके बाद जिला नागरिक अस्पताल शहर से उधार में एक्सरे की पोर्टल मशीन उधार ली। इसमें भी फिल्म खत्म हुए छह महीने बीत चुके हैं। ऐसे में एक्सरे रूम को ताला ही लगा दिया गया और मरीज फिर नागरिक अस्पताल में रेफर होने शुरू हो गए।

इस अस्पताल में रोजाना काफी संख्या में मरीज चेकअप कराने के लिए पहुंचते हैं, क्योंकि कुछ को टीबी होने लक्षण होते हैं तो सुबह आठ बजे से पर्ची बननी शुरू हो जाती है और यह दोपहर दो बजे तक बनाई जाती है। पर्ची बनने के बाद डॉक्टर मरीज का चेकअप करता है। इसके बाद डॉक्टर बलगम चेक और छाती की जांच के लिए एक्स-रे की सलाह देता है। हर रोज 25 से 40 मरीजों का एक्स-रे

टीबी अस्पताल में काफी मरीजों की ओपीडी होती है। इसी कारण करीब 25 से 40 मरीजों को डॉक्टर एक्स-रे कराने की सलाह देते हैं। टीवी अस्पताल में एक्स-रे न होने के कारण उन्हें जिला अस्पताल में एक्स-रे कराने के लिए भेजा जाता है, जबकि वहां पहले से ही मरीजों की कतारें लगी होती हैं। ऐसे में मरीजों को एक दिन और अधिक सिर्फ एक्सरे कराने में ही गंवाना पड़ जाता है। या फिर प्राइवेट एक्सरे के पास कराकर अपनी जेब ढीली करनी पड़ती है। पांच साल पहले मांगी थी मशीन

टीबी अस्पताल ने जिला अस्पताल से 2014 में एक्सरे के लिए पोर्टल मशीन ली थी, इसके बाद मशीन को लौटाया नहीं गया। ऐसे में करीब एक लाख रुपये की मशीन फिल्म न होने पर छह माह से बंद पड़ी है। इतना ही नहीं टीबी अस्पताल के पास 1984 की खुद की मशीन भी है, लेकिन वह खराब है। इसे किसी ने दुरुस्त कराना उचित ही नहीं समझा। जो मशीन कबाड़ बनती जा रही है। एक्स-रे रूम में कबाड़, बाहर लटका ताला

कहने को तो एक्सरे रूम में चप्पल पहन कर भी एंट्री नहीं की जा सकती। लेकिन टीवी अस्पताल के एक्सरे रूम में यह नियम लागू नहीं हो रहे। यहां चप्पल दूर वाहन तक ले जा सकते हैं। ऐसा ही हाल देखने को मिला है। अफसरों के ध्यान न दिए जाने पर एक्सरे रूम पर ताला ही लटक गया। मामले में डिप्टी सीएमओ पवन चौधरी से संपर्क किया गया, लेकिन नहीं हो पाया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप