संवाद सहयोगी, नारायणगढ़ : केन कमिश्नर हरियाणा द्वारा प्रदेश की तीन शुगर मिलों को लिखे लेटर ने गन्ना उत्पादकों की टेंशन बढ़ा दी है। चर्चा है कि नारायणगढ़ शुगर मिल बंद हो सकती है, जबकि एसडीएम का दावा है कि मिल को बंद नहीं होने देंगे, पेराई सत्र शुरू करने की तैयारी की जा रही है। दूसरी ओर शुगर मिल के जीएम का कहना है कि उनके पास इस लेटर को लेकर आधिकारिक रूप से कोई जानकारी नहीं है। ऐसे में गन्ना किसानों की धड़कनें बढ़ रही हैं। यदि मिल बंद होती है, तो किसानों को अपना गन्ना अन्य तीन मिलों तक ले जाने परेशानियां उठानी पड़ेंगी। इसी को लेकर दिन भर किसानों में इसकी चर्चा रही। उल्लेखनीय है कि शुगर मिल नारायणगढ़ गन्ना उत्पादकों की पेमेंट को लेकर हमेशा विवादों में रही है और मिल प्रबंधन के खिलाफ लामबंद हो कर कई बार प्रदर्शन तक कर चुके हैं।

केन कमिश्नर ने मांगी रिपोर्ट, तीन मिलों को तैयार रहने के निर्देश

केन कमिश्नर हरियाणा की ओर प्रदेश की तीन शुगर मिलों शाहाबाद कोआपरेटिव शुगर मिल, सरस्वती शुगर मिल यमुनानगर व दी पिकाडली एग्रो इंडस्ट्रीज लिमिटेड भादसों (करनाल) को लेटर लिखा है। इस में कहा गया है कि यदि शुगर मिल नारायणगढ़ 2021-22 का पेराई सत्र शुरू नहीं कर पाती, तो उक्त तीन शुगर मिल अतिरिक्त गन्ना लेने के लिए तैयार रहें। ऐसी स्थिति में नारायणगढ़ क्षेत्र के गन्ना उत्पादकों का गन्ना इन तीन शुगर मिलों में बांटा जाएगा। नारायणगढ़ में करीब 51 लाख क्विंटल गन्ने का उत्पादन होता है।

करोड़ों रुपये की पेमेंट फंस सकती है

शुगर मिल नारायणगढ़ की ओर गन्ना किसानों की करीब 70 करोड़ रुपये की पेमेंट बकाया है। यदि पेराई सत्र शुरू नहीं होता, तो किसानों के लिए बड़ी मुसीबत खड़ी हो जाएगी। हालांकि दावा किया जा रहा है कि पेराई सत्र शुरू किया जाएगा और अक्टूबर तक मिल चलाने की तैयारी है, लेकिन जिस तरह से केन कमिश्नर ने तीन शुगर मिलों को लेटर भेजा है, उससे शुगर मिल नारायणगढ़ को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है। उल्लेखनीय है कि मंगलवार को किसानों ने पेमेंट के मुद्दे पर हाईवे जाम किया था, जबकि 21 सितंबर को फिर से आंदोलन की चेतावनी दी है।

---------------

यह मांगी है रिपोर्ट

केन कमिश्नर ने इन तीनों शुगर मिलों को लेटर जारी कर रिपोर्ट मांगी है। इस में कहा गया कि मिल प्रबंधन अपना प्रपोजल तैयार करें और उनको भेजें। इसके साथ ही नारायणगढ़ क्षेत्र के गन्ना उत्पादकों से कितना गन्ना यह मिल ले सकती हैं। इसी की रिपोर्ट 21 सितंबर 2021 तक भेजना सुनिश्चित करें।

---------------

इस तरह का लेटर सर्कुलेट तो हो रहा है, लेकिन हमारे पास इस संबंध में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं है। यदि कोई लेटर आता है, तो ही इस बारे में कुछ बता सकते हैं।

- वीके सिंह, जीएम शुगर मिल नारायणगढ़।

---------------

शुगर मिल को अवश्य चलाया जाएगा। इसके लिए काम कर रहे हैं। पेराई सत्र समय पर ही चलेगा। अक्टूबर तक मिल को चला लेंगे। लेटर जरूर जारी हुआ है, लेकिन शुगर मिल नारायणगढ़ को बंद नहीं होने दिया जाएगा।

- नीरज, एसडीएम नारायणगढ़ एवं सीईओ शुगर मिल नारायणगढ़।

Edited By: Jagran