जागरण संवाददाता, अंबाला : सेंट्रल बोर्ड आफ स्कूल एजुकेशन (सीबीएसई) द्वारा जहां दसवीं की परीक्षाएं रद कर दी गई हैं, वहीं 12वीं की परीक्षा को 30 मई 2021 तक स्थगित कर दिया गया है। इसी को लेकर विद्यार्थी भी अब मानसिक दबाव महसूस करने लगे हैं। शिक्षक भी मानते हैं कि यह समय 12वीं के बच्चों के लिए काफी महत्वपूर्ण है। कोरोना के चलते पहले ही यह परीक्षा में देर हो चुका है। दूसरी ओर दसवीं के विद्यार्थियों की परीक्षा रद करने का स्वागत किया जा रहा है। इस बारे में विद्यार्थी से बातचीत की गई, तो उन्होंने अपनी बात रखी, जबकि प्रिसिपल ने भी अपने विचार सांझे किए।

------------- परीक्षा की पूरी तैयारी थी, लेकिन अब यह स्थगित कर दी गई है। हालांकि सिलेबस पूरा हो चुका है, जबकि रीविजन भी की जा चुकी है। एक माह से अधिक का समय है, जिसमें तैयारी तो रखनी पड़ेगी।

चनप्रीत कौर, कान्वेंट आफ जीसस एंड मैरी स्कूल अंबाला कैंट

------------- पहले ही परीक्षा काफी लेट हो चुकी है, जबकि परीक्षा की तिथि घोषित होने के बाद पूरी तैयारी थी। लेकिन अचानक से फिर बारहवीं की परीक्षा स्थगित कर दी है, जिससे परेशानी तो होगी।

रिया, एसडी विद्या स्कूल, अंबाला कैंट

------------- करीब डेढ़ माह के लिए और 12वीं की परीक्षा स्थगित कर दी गई है। मानसिक दबाव तो रहेगा, लेकिन क्या किया जा सकता है। परीक्षा की तैयारियां तो रखनी ही पड़ेंगी।

मंशा, एसडी विद्या स्कूल, अंबाला कैंट

------------- दसवीं कक्षा के लिए लिया गया निर्णय तो सही है, जबकि 12वीं की परीक्षा स्थगित करना जल्दबाजी है। अब यह परीक्षा हो जानी चाहिए थी, जबकि इस में कोविड से बचाव की पूरी तैयारी के साथ यह परीक्षा ली जानी चाहिए। परीक्षा स्थगित करने से बच्चों पर मानसिक रूप से दबाव बनेगा।

- नीलइंद्रजीत कौर संधू, डायरेक्टर प्रिसिपल, दी एसडी विद्या स्कूल, अंबाला कैंट

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021