मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

संवाद सहयोगी, साहा : शनिवार को राजीव गांधी राजकीय महाविद्यालय में शनिवार को दीक्षांत समारोह का आयोजन किया गया। इस दौरान 125 विद्यार्थियों को डिग्रियां वितरित की गईं। इस समारोह में भगत फूल सिंह विश्वविद्यालय की कुलसचिव डॉ. किरण कंबोज मुख्य अतिथि रहीं, जबकि कालेज की प्राचार्य डॉ. कमलेश रानी ने उनका स्वागत किया।

डॉ. किरण कंबोज ने विद्यार्थियों से कहा कि गुरुजनों से मिली शिक्षा का सदुपयोग करते हुए समाज और राष्ट्र के सकारात्मक बदलाव के संदेशवाहक बनें। ज्ञान से बढ़कर कुछ नहीं है। मनुष्य जन्म लेते ही अपने परिजनों से ज्ञान प्राप्त करना शुरू करता है। फिर स्कूल व कॉलेज में शिक्षक उसमें ज्ञान का संचार करते हैं। उन्होंने कहा कि आजादी से पहले के युवाओं में देश के प्रति कुछ करने का जज्बा होता था। लेकिन आज के युवाओं की बातचीत में देश बहुत कम दिखाई देता है। युवाओं में अपने माता-पिता व गुरुजनों की तरह देश व मातृभूमि के प्रति प्रेम होना चाहिए। जिस भी कार्य को करो उसे प्यार से करो, आपको कभी थकान महसूस नहीं होगी। कालेज की प्राचार्य डॉ. कमलेश रानी ने कहा कि यह आपके सीखने का अंत नहीं है और आप सिर्फ बंद कक्षा से एक खुली कक्षा की तरफ जा रहे हैं। इस मौके पर एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. मंगत सिंह सहित कई अन्य मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप