संवाद सहयोगी, नारायणगढ़: हरियाणा गठन के बाद पहली बार नाराणगढ़ से कोई महिला विधायक बनी हैं। इस बार कांग्रेस की शैली चौधरी ने बंपर जीत हासिल की है। इन तेरह चुनावों में से सात बार एक ही परिवार का दबदबा रहा है। इसी परिवार से शैली चौधरी के ससुर स्व. लाल सिंह चार बार विधायक बने, तो बाद में उनके बेटे रामकिशन गुर्जर दो बार विधायक रहे। अब उनकी पत्नी शैली चौधरी नारायणगढ़ से विधानसभा का चुनाव जीत गई है। इस जीत के कई मायने सामने आ रहे हैं। एक ओर जहां यह परिवार अपनी राजनीतिक विरासत को बचा गया, वहीं पहली महिला विधायक भी इस लिस्ट में शामिल हो गई।

पूर्व विधायक राम किशन गुर्जर की पत्नी शैली चौधरी को इस बार कांग्रेस ने अपना प्रत्याशी बनाया था। चुनाव प्रचार को दोनों पति पत्नी ने खूब धार दी। पूर्व विधायक राम किशन द्वारा अपने 10 वर्ष के कार्यकाल में क्षेत्र में करवाए विकास कार्यों को आधार बनाकर वोट मांगे। शैली चौधरी ने पहले ही राउंड से ही अपने प्रतिद्वंद्वी भाजपा प्रत्याशी सुरेंद्र राणा पर निर्णायक बढ़त बना ली जो हर राउंड में बढ़ती ही चली गई। यहां तक कि पोस्टल बैलेट में भी उन्हें अन्य प्रत्याशियों से अधिक मत मिले। शैली चौधरी ने 20600 के बड़े अंतर से विजय हासिल की। शैली को 53470 वोट हासिल हुए जबकि भाजपा के उम्मीदवार सुरेंद्र राणा को 32870 मत मिले। कार्यकर्ताओं ने नारायणगढ़ की नई विधायक शैली रामकिशन चौधरी के आवास पर आतिशबाजी व ढोल नगाड़ों के साथ जीत का जश्न मनाया।

शैली चौधरी ने कहा कि नारायणगढ़ की जनता की इस जीत की असली हकदार है। उहोंने कहा कि कांग्रेस ने जो विकास कार्य करवाए हैं, उस पर ही जनता ने विश्वास जताया और वे जीत सकीं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस