जागरण संवाददाता, अंबाला :

कैंट एसडीएम कार्यालय में सोमवार से बीमार होने की वजह से एक सप्ताह के लिए छुट्टी पर चली गई। अब छावनी एसडीएम का चार्ज बराड़ा के गिरीश कुमार के पास है। एसडीएम के अचानक छुट्टी पर जाने के बाद अतिरिक्त चार्ज लेने वाले बराड़ा के एसडीएम ने वाहनों के पंजीकरण और ड्राइविग लाइसेंस की फाइलों को मैडम के आने तक इंतजार करने को कहा। अब लाइसेंसिग अथारिटी के न होने की वजह से एसडीएम कार्यालय में 500 से अधिक फाइलें जमा हो गई है। इसमें 150 से अधिक वाहनों के पंजीकरण और करीब 360 लर्निंग व स्थाई ड्राइविग लाइसेंस की फाइलें शामिल है। अधिकारी के न होने की वजह से कार्यालय में वाहन पंजीकरण और ड्राइसिग लाइसेंस बनवाने के लिए आने वाले लोगों को मायूस लौटना पड़ रहा है। काउंटर पर बैठे कर्मी भी अधिकारी के आने तक आवेदक को इंतजार करने की बात कर रहे हैं। नवंबर के मध्य से ही प्रभावित है कार्य

नवंबर के पहले सप्ताह में एसडीएम दिलबाग सिंह का गैर जनपद तबादला हो गया और कैंट एसडीएम के लिए पंचकूला से निशु सिगल को भेजा गया। चार्ज लेने के करीब एक सप्ताह तक लागिग पासवर्ड को लेकर कार्य प्रभावित रहा और इसके बाद ड्राइविग लाइसेंस से लेकिन वाहनों के पंजीकरण की सभी फाइलों को मैनुअल एसडीएम के समक्ष पेश करने का आदेश हुआ। अब सोमवार से बराड़ा के एसडीएम को कैंट एसडीएम का अतिरिक्त चार्ज दिया गया है। गाड़ियों के पंजीकरण पर बढ़ रही लेट फीस

एसडीएम कार्यालय में जमा करीब 45 गाड़ियों के पंजीकरण कराने की अंतिम अवधि निकलती जा रही है और उस पर लेट फीस लगनी शुरू हो गई है। यह देख वाहनों की एजेंसी से प्रतिनिधि एसडीएम कार्यालय के रोजाना चक्कर लगा रहें हैं। बाइक और टू व्हीलर गाड़ियों का भी रजिस्ट्रेशन नहीं हो पा रहा है।

Edited By: Jagran