जासं, अंबाला: करीब सवा दो माह के बाद मुंबई से कालका जाने वाली पश्चिम एक्सप्रेस पहले दिन चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन पर पहुंची। कमर्शियल विभाग ने शारीरिक दूरी का नियम बरकरार रखने और मॉस्क पहनकर यात्रियों को बोझ उठाने के लिए छह कुलियों को अनुमति दी। ये कुली स्टेशन पर पहुंचे और आरपीएफ ने इन्हें धमकाकर वहां से दौड़ा दिया। कुलियों ने कहा कि कमर्शियल विभाग ने अनुमति दी हैं लेकिन वर्दीधारी मानने का तैयार ही नहीं थे। यह विवाद देर सायं को अंबाला मंडल के अधिकारियों तक पहुंच गया है। शाबर अली नाम के कुली ने आरोप लगाया कि आरपीएफ ने कहा यदि फिर आएं तो मामला दर्ज कर लिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस