अंबाला, जेएनएन/एएनआइ। अत्‍याधुनिक युद्धक विमान राफेल विधिवत रूप से भारतीय वायुसेना में शामिल हो गए। इस अवसर पर वीरवार को आयोजित समारोह में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि यह भारत की सीमा पर नजर रखने वालों और भारत के दुश्‍मनों के लिए बड़ी और कड़ी चेतावनी है। राफेल के शामिल हाेने से भारतीय वायुसेना की ताकत और बढ़ गई है। उन्‍होंने फ्रांस के साथ भारत के बीच रक्षा सहयोग के मजबूती की भी चर्चा की। फ्रांस की रक्षामंत्री फ्लारेंस पर्ले ने भी समारोह को संबोधि‍त किया। उन्‍होंने भारत-फ्रांस के बढ़ते रक्षा सहयोग को विश्‍व शांति के लिए महत्‍वपूर्ण बताया।

इससे पहले अंबाला एयरबेस पर आयोजित समारोह के दौरान राफेल, तेजस, सुखोई और जगुआर विमान एयर शो में शानदार करतब दिखाए। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह पांच राफेल विमानों को वायुसेना में औपचारिक रूप से शामिल किया। समारोह को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने राफेल को वायुसेना में शामिल किए जाने पर वायुसेना को बधाई दी। उन्‍होंने भारत और फ्रांस के बीच रक्षा सहयोग की चर्चा की। उन्‍होंने कहा कि दोनों देशों के बीच रक्षा संबंध विश्‍व शांति के लिए अहम हैं। उन्‍होंने कहा कि राफेल का भारतीय वायुसेना में शामिल होना भारत की सीमाओं पर नजर रखनेवाले देशाें के लिए बड़ी चेतावनी है।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि राफेल युद्धक विमानाें को भारतीय वायुसेना में शामिल होना पूरी दुनिया के लिए एक बड़ा और कड़ा संदेश है, खासकर हमारी संप्रभुता पर नजर रखने वालों के लिए यह खास चेतावनी है। हमारी सीमाओं पर जिस तरह का माहौल बना है उसमें राफेल का वायुसेना में शामिल होना बेहद अहम है।

राजनाथ सिह ने कहा, मैं आज भारतीय वायुसेना के अपने सहयोगियों को बधाई देना चाहता हूं। सीमा खासकर एलएसी (LAC) पर हाल ही में हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना के दौरान भारतीय वायु सेना द्वारा की गई तेज कार्रवाई आपकी प्रतिबद्धता दिखाती है।

#WATCH Live from Ambala: Rafale induction ceremony at IAF airbase https://t.co/uEJiV3yiDK" rel="nofollow" rel="nofollow

— ANI (@ANI) September 10, 2020

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस की रक्षामंत्री फ्लारेंस पर्ले के साथ बातचीत के बारे में भी जानकार दी। उन्‍होंने कहा, मैंने आज फ्रांस की रक्षामंत्री के साथ उपयोगी चर्चा की। हमने रक्षा औद्योगिक क्षेत्र की पहचान और सैन्य सहयोग के लिए सेना पर काम जारी रखने का फैसला किया है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि अपनी हालिया विदेश यात्रा में मैंने भारत के दृष्टिकोण को दुनिया के सामने रखा। मैंने सभी को किसी भी परिस्थिति में अपनी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता से समझौता नहीं करने के अपने संकल्प के बारे में अवगत कराया। हम अपनी सीमाओं और देश की संप्रमुता की रक्षा के लिए हर संभव प्रयास करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि राफेल का भारतीय वायुसेना में शामिल होना भारत और फ्रांस के बीच मजबूत संबंधों का भी प्रतीक है। दोनों देशों के बीच रणनीतिक संबंध भी मजबूत हुए हैं।

रक्षामंत्री ने राजनाथ सिंह ने फ्रांस के साथ रक्षा सहयोग के बारे में चर्चा की और रक्षा क्षेत्र में निवेश व सहयोग-समन्‍वय के लिए भी उन्‍होंने निमंत्रण दिया। राजनाथ सिंह ने भारतीय वायुसेना के विभिन्‍न युद्धों में शानदार प्रदर्शन का उल्‍लेख भी किया। समारोह को रक्षामंत्री फ्लारेंस पार्ले ने भी संबोधित किया। उन्‍होंने भारत और फ्रांस के बीच रक्षा सहयोग का उल्‍लेख‍ किया। उन्‍होंने उम्‍मीद जताई की यह और मजबूत होगा।

इस अवसर पर फ्रांस की रक्षामंत्री फ्लारेंस पार्ले भी समारोह में मौजूद हैं। एयर शोे के बाद राफेल को वायुसेना में शामिल करने के औपचारिक कार्यक्रम की शुरुआत हुई है। कार्यक्रम में वायुसेना अध्‍यक्ष आरकेएस भदौरिया संबोधि‍त किया और राफेल विमानों का स्‍वागत किया।

सर्वधर्म प्रार्थना के साथ समारोह का आगाज हुआ। दोनों दिल्‍ली से अंबाला एयरबेस पर पहुंचे। अब समाराेह शुरू हो गया है। सर्वधर्म प्रार्थना के बाद एयर शो हो गया है। एयर शो की शुरुआत सुखोई विमानों से हुई। एयर शो में राफेल के साथ तेजस, जगुआर विमान भी शामिल हो रहे हैं।

इस अवसर पर राफेल विमानों को वाटर सैल्‍यूट दिया गया। वाटर विमानों को वाटर कैनन से वाटर सैल्‍यूट दिया गया। इसके बाद पांचों राफेल विमानों के पायलटों ने रक्षामंत्री राजनाथ सिंह को सलामी दी। एयर शोे के अंत में सारंग हेलीकाप्‍टरों ने रंगारंग करतब दिखा रहे हैं।

 सुखोई, तेजस और जगुआर के साथ राफेल विमानों ने एयर शो में करतब दिखाए

अंबाला एयरबेस पर समारोह शुरू चल रहा है और राफेल के साथ वायुसेना के शानदार युद्धक विमान अपना करतब दिखा रहे हैं। विमानो के करतब देख कर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और फ्रांस की रक्षामंत्री फ्लारेंस पार्ले सहित वहां मौजूद सभी लोग बेहद रोमांचित हो रहे हैं।

इससे पहले हिंदू धर्म, इस्‍लाम, सिख और ईसाई धर्म के अनुसार पूजा-अर्चना और प्रार्थना की गई। चारों धर्म के गुरुओं ने राफेल, भारतीय सेना और भारत सरकार के लिए प्रार्थना की। इसमें रक्षामंत्री राजनाथ, फ्रांस की रक्षामंत्री फ्लारेंस पार्ले सहित वायुसेना के अधिकारी और अन्‍य अफसर शामिल हुए।

ये विमान फ्रांस से 29 जुलाई 2020 को अंबाला एयरबेस पहुंचे थे।  अंबाला एयरबेस पर कार्यक्रम में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह राफेल को वायुसेना में शामिल करेंगे। इससे पहले रक्षामंत्री राजनाथ सिंह दिल्‍ली से अंबाला के लिए रवाना हो गए हैं। उनके साथ फ्रांस की रक्षामंत्री फ्लारेंस पार्ले भी हैं। समारोह थोड़ी देर में शुरू होगा। कार्यक्रम में राफेल विमान  को वाटर सैल्‍यूट भी दिया जाएगा। तीन राफेल विमान एयर शो के दौरान तेजस और सुखोई सहित अन्‍य विमानों के साथ अपना कौशल दिखाएंगे।

राफेल विमान वायुसेना के 17 स्क्वाड्रन 'गोल्डन एरो' का हिस्‍सा बनेंगे। इस मौके पर तेजस विमानों के साथ रंगारंग एयर शो भी होगा। कार्यक्रम के मद्देनजर अंबाला एयरबेस के आसपास के क्षेत्र में बेहद कड़ी सुरक्षा है। शहर में विभिन्‍न जगहों पर नाके लगाए गए हैं। उधर, फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ले दिल्ली पहुंचीं। वह राफेल लड़ाकू विमानों को वायु सेना में शामिल करने के समारोह में मुख्य अतिथि हैं।

यह कार्यक्रम अंबाला एयरफोर्स स्टेशन में आयोजित होगा। नई दिल्‍ली पहुंचने पर फ्लारेंस पार्ले को गार्ड ऑफ आर्नर भी दिया गया। पालम एयरफोर्स स्‍टेशन पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने फ्रांस की रक्षामंत्री के साथ बातचीत भी की। इसके बाद दोनों रक्षामंत्री अंबाला एयरबेस के लिए रवाना हुए।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह अंबाला एयरबेस पर कार्यक्रम में होंगे शामिल, फ्रांस से रक्षा मंत्री भी पहुंचीं 

फ्रांस की रक्षामंत्री फ्लोरेंस पार्ले, चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया, रक्षा सचिव डा. अजय कुमार, डा. जी सतीश रेड्डी सेक्रेटरी डिपार्टमेंट आफ डिफेंस आर एंड डी एवं चेयरमैन डीआरडीओ सहित फ्रांस के राजदूत इमैनुअल लीनेन, एयर जनरल एरिक ऑटेलेट, दसॉ एविएशन के चेयरमैन व चीफ एग्जीक्यूटिव एरिक ट्रैपियर, एरिक बेरेंजर सीईओ एमबीडीए मौजूद हैं।

इसके अलावा हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज के भी इस कार्यक्रम में शामिल हैं। कार्यक्रम स्थल पर सर्वधर्म पूजा का आयोजन हुआ। कार्यक्रम के दौरान राफेल और तेजस विमान एयर डिस्प्ले किया। कार्यक्रम में सारंग एक्रोबेटिक टीम भी शामिल हुए। राफेल एयरक्राफ्ट गोल्डन एयरो 17 स्कवाड्रन का हिस्सा बने हैं।

भारत का पलड़ा भारी रहेगा  : पार्ले

फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ले ने कहा कि भारत और फ्रांस के बीच हुए रक्षा सौदे के तहत पांच राफेल भारत को सौंपे गए हैं। विश्वस्तरीय तकनीक से लैस ये लड़ाकू विमान भारत को अपने क्षेत्र में रणनीतिक बढ़ते देंगे। भारत और फ्रांस के बीच संबंध नए नहीं है, जबकि समय के साथ-साथ यह और मजबूत हुए हैं। मेक इन इंडिया फ्रेंच इंडस्ट्री के लिए सालों से बेहतर साबित हुआ है, खासकर पनडुब्बी के क्षेत्र में इसका फायदा अधिक मिला है। कई फ्रेंच कंपनियां व कार्यालय भारत में खुले हैं। उम्मीद है कि कुछ और कंपनिया भारत में अपना कारोबार करते हुए अपनी सेवाएं देंगी।
 

कोविड महामारी में भारत ने किया सहयोग
फ्लोरेंस पार्ले ने कहा कि भारत ने कोविड 19 महमारी में फ्रांस का काफी सहयोग किया है। भारत ने जरूरी दवाओं की खेप फ्रांस तक पहुंचाई है, जिसका हमें काफी फायदा हुआ। इसी तरह फ्रांस ने भी भारत को मेडिकल उपकरण भेजे हैं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य क्षेत्र में भी भारत और फ्रांस परस्पर सहयोग करते रहेंगे।
-----
 
सुरक्षा परिषद में भारत को सदस्यता मिले

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की दावेदारी को भी फ्रांस की रक्षा मंत्री ने समर्थन दिया। उन्होंने कहा कि भारत एक जिम्मेदार देश है और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की दावेदारी का फ्रांस समर्थन करता है। उन्होंने कहा कि सन 2021 जनवरी में सुरक्षा परिषद का दो साल के अगले कार्यकाल की अवधि शुरु होगी, जिसमें भारत की मजबूत दावेदारी है और हम भारत का समर्थन करते हैैं।
----
31 राफेल जल्द मिलेंगे भारत को

फ्रांस की रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत को फ्रांस से पांच राफेल मिल चुके हैं, जिनकी अंबाला एयरबेस पर तैनाती हो गई है। इसके अलावा अभी 31 और राफेल विमान भारत को मिलने हैं। उन्होंने कहा कि राफेल की आपूर्ति तय अवधि में हो जाएगी।

महेंद्र सिंह धौनी ने दी बधाई

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने ट्विटर पर बधाई देते हुए कहा-दुनिया के बेहतरीन फाइटर जेट्स को दुनिया के बेस्ट फाइटर पायलेट्स मिले हैं। हालांकि धोनी ने यह भी स्पष्ट कर दिया कि उनकी पसंद सुखोई 30 ही रहेगा।

यह भी देखें: वायुसेना में शामिल होंगे 5 Rafale Jets, Rajnath Singh और France की रक्षा मंत्री Florence Parly पहुंचे अंबाला

यह भी पढ़ें: गांधी परिवार के लिए आसान नहीं हरियाणा के पूर्व सीएम हुड्डा को किनारे लगाना

 

यह भी पढ़ें: Ease of Doing Business Ranking में नए मानकों के 'खेल' का शिकार हो गया हरियाणा

 

यह भी पढ़ें: Exclusive interview: हरियाणा कांग्रेस प्रधान सैलजा बोलीं- सोनिया को 23 नेताओं का पत्र लिखना हैरानीजनक

 

यह भी पढ़ें: इस 'ऑरो' को जिंदगी की चाह, लेकिन माता-पिता की बेबसी से संकट में एक साल के बच्‍चे की जान

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस