जागरण संवाददाता, अंबाला: अंबाला छावनी सीट से आजाद प्रत्याशी चित्रा सरवारा ने कहा कि अहंकार के खिलाफ जनहित के मुद्दों की लड़ाई को जारी रखा जाएगा। यह जरूरी नहीं हर लड़ाई जीतने की लिए ही लड़ी जाए। जो समर्थन जनता ने उनको दिया है, वह अवश्य एक न एक दिन कामयाब तो होगा। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस से बागी होकर चित्रा सरवारा ने आजाद प्रत्याशी के तौर पर छावनी से चुनाव लड़ा था। वे छावनी के डीसी रोड स्थित अपने चुनाव कार्यालय पर समर्थकों से बातचीत कर रहीं थीं।

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की उम्मीदवार कुमारी सैलजा को 9 विधानसभा क्षेत्रों से 4 लाख वोट मिले थे जबकि इस बार के विधानसभा चुनाव में समर्थकों और मतदाताओं के समर्थन से अंबाला शहर एवं अंबाला छावनी में ही 1 लाख वोट हासिल करना हम सभी के लिए गर्व की बात है। छावनी से कांग्रेस का टिकट हासिल करने वालों की राजनीति मात्र साढ़े आठ हजार वोटों तक ही सीमित है। उन्होंने इनेलो, शिअद, आप और जजपा समेत अनेक पार्टियों के समर्थकों और कार्यकर्ताओं को उनका साथ देने के लिए धन्यवाद कहा। उन्होंने कहा कि जनहित के मुद्दों पर संघर्ष जारी रहेगा। जीत के लिए अनिल विज और उनकी टीम को बधाई देते हुए उन्होंने कहा कि इस चुनाव में जनता की ओर से दिए गए फैसले को वे अपनी टीम समेत स्वीकार करतीं हैं। निकट भविष्य में होने वाले नगर परिषद और नगर निगम के चुनाव में हिस्सा लेने के सवाल पर उन्होंने कहा कि अंबाला में अब सर्वदलीय सांझा मोर्चा बन चुका है। सर्वसम्मति से लिए गए निर्णय के आधार पर ही भविष्य की लड़ाई लड़ी जाएगी। भाजपा के 75 पार के नारे पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश के किसान, कर्मचारी, व्यापारी और बेरोजगार नवयुवकों समेत जनसाधारण में भाजपा की कारगुजारियों से त्राहि-त्राहि हो रही है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021