जागरण संवाददाता, अंबाला : कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी बढ़ गई है। छावनी के फुटबाल चौक पर रात्रि क‌र्फ्यू के दौरान पुलिस ने एक्सयूवी कार में सवार दो लोगों के पास रेमडेसिविर इंजेक्शन की 24 डोज बरामद की थी। बरामद इंजेक्शन हिट्रो कंपनी का निकला। इंजेक्शन की खेप लेकर जाने वालों ने इसे दिल्ली में भर्ती मरीज की जान बचाने के लिए लेकर जाने की बात पुलिस से कही। एक सप्ताह का समय बीतने के बाद भी अभी तक मामले की तफ्तीश कर रही कैंट पुलिस यह पता नहीं लगा सकी कि इंजेक्शन की खेप दिल्ली में भर्ती किस मरीज की जान बचाने के लिए ले जाई जा रही थी। खुद को फंसता देख हिट्रो कंपनी के गोदाम संचालक तरुण दुआ ने कहा कि पुलिस ने जो इंजेक्शन बरामद किया है कि वह मेरी कंपनी का नहीं बल्कि नकली है।

-----------------

दो कंपनियों को सरकार ने दी है मान्यता

राज्य सरकार ने हरियाणा में दवा और इंजेक्शन बनाने वाली दो कंपनियों को रेमडेसिविर इंजेक्शन की सप्लाई के लिए अधिकृत किया है। इसमें एक सिफला और दूसरी हिट्रो कंपनी की 100 मिली ग्राम इंजेक्शन शामिल है। सिफला कंपनी का सी एंड एफ मोहड़ा के निकट है और हिट्रो का छावनी के प्रभु प्रेम नगर में। सिफला के मोहड़ा स्थित गोदाम पर कंपनी के अधिकारी से लेकर कर्मचारी स्टाक रजिस्टर ऑन लाइन करते हैं। जबकि हिट्रो के सी एंड एफ गोदाम पर भारत एसोसिएट के प्रतिनिधि।

---------------------

हिट्रो कंपनी के नाम पर बन रही नकली रेमडेसिविर

हिट्रो कंपनी की पैकिग से मिलती नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन तैयार करके कोरोना संक्रमितों की जान बचाने के लिए कालाबाजारी शुरू हो चुकी है। नकली इंजेक्शन कोरोना पॉजिटिव की जान बचाने के बजाय उसकी मौत का कारण बन रहा है। चिकित्सकों की मानें तो जो नकली इंजेक्शन पुलिस ने बरामद किया है उसके इस्तेमाल करने से पॉजिटिव मरीजों के स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं होता।

--------------------

पुलिस ने रात्रि क‌र्फ्यू के दौरान जो रेमडेसिविर इंजेक्शन बरामद किया था, उसकी जांच करने के लिए लैब भेज दिया गया है। लैब की रिपोर्ट बताएगी कि यह इंजेक्शन असली है अथवा नकली। साथ ही संबंधित कंपनियों के स्टाक ब्यौरा भी तलब किया गया है।

-डा. कुलदीप सिंह, सिविल सर्जन अंबाला।

-------------

रेमडेसिविर इंजेक्शन का कितना स्टाक सिफला और हिट्रो कंपनी से आया और बिका, इसकी विस्तृत जानकारी के लिए दोनों कंपनियों के प्रतिनिधियों को कहा गया है। अभी तक सी एंड एफ अथवा गोदाम के स्टाक की जानकारी कार्यालय को उपलब्ध नहीं कराई गई है। अगर किसी तरह की कालाबाजारी की बात सामने आई तो संबंधित के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

सुनील चौधरी, ड्रग इंस्पेक्टर अंबाला।

-----------------------

बरामद रेमडेसिवर इंजेक्शन की जांच की जा रही है। दिल्ली में भर्ती मरीज के इंजेक्शन लेकर जाने की बात बताई गई। यह इंजेक्शन किस मरीज को लगाई जानी थी, उसके बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। इंजेक्शन लेकर जाने वालों के खिलाफ नाइट क‌र्फ्यू का उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया है।

जय भगवान, पुलिस जांच अधिकारी अंबाला कैंट थाना।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप