जागरण संवाददाता, अंबाला शहर

जिला की अनाज मंडियों में अब 1509 किस्म की धान की भी खरीद होगी। जबकि अभी तक इस किस्म की धान का सरकारी दाम निश्चित नहीं था और न ही अभी तक धान की खरीद की जा रही थी। अनाज मंडियों में अभी तक सिर्फ मोटे धान की ही खरीद की जा रही थी। क्योंकि इसी धान का पहले से 1888 रुपये प्रति क्विंटल दाम तय किया हुआ है।

बता दें कि अंबाला शहर अनाज मंडी में लगभग ढाई सौ के करीब दुकानें हैं। जिनमें मोटा धान, सरबती और बासमती धान तक की आवक होती है। अनाज मंडी में अभी तक मोटे धान की ही आवक ही हो रही थी। क्योंकि ज्यादातर किसान मोटे धान की ही फसल उगाते हैं। ऐसे में प्रदेश सरकार की ओर से मोटे धान (परमल) का समर्थन मूल्य समेत निश्चित कर दिया गया था। लेकिन कुछ किस्में जिनमें हाइब्रिड या बासमती है उनका भाव तय नहीं किया हुआ था। अनाज मंडी में उनकी खरीद बाजार के हिसाब से ही होती रही है। कभी समर्थित मूल्य से अधिक और कभी तय से भी कम। परंतु अब इस झंझट को खत्म कर दिया गया। 1509 किस्म जिसका चावल पतला और लंबा होता है। इस किस्म का रेट भी इस तरह से फिक्स कर दिया गया है कि 1888 रुपये प्रति क्विंटल से अधिक किसान बेच सकता है लेकिन इससे कम नहीं बिकेगा। इससे किसानों को बड़ी राहत मिलेगी।

-------- -उनके पास सरकार की ओर से पत्र आ चुका है, जिसमें 1509 किस्म की धान की भी 1888 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से खरीद होगी। जबकि अभी तक सिर्फ परमल का समर्थित मूल्य तय था। इससे किसानों को बड़ी राहत मिलेगी।

-अनिल कुमार, डीएफएससी

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस