जेएनएन, अंबाला शहर। विश्व की राजनीति में ऊंचा कद रखने वाली अंबाला की बेटी स्व. सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) के नाम पर अंबाला शहर का आधुनिक बस अड्डा पहचाना जाएगा। 14 फरवरी को अंबाला शहर की बेटी सुषमा के जन्मदिन पर स्थानीय बस अड्डे को यह नाम दिया जाएगा। परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। स्थानीय विधायक असीम गोयल ने बस अड्डेे का नाम सुषमा स्वराज के नाम पर रखने के लिए प्रदेश सरकार को चिट्ठी लिखी थी। 

अंबाला से शुरू किया था राजनीतिक सफर

महज 25 साल की उम्र में हरियाणा में कैबिनेट मंत्री बनने वाली सुषमा स्वराज अंबाला की बेटी थीं। वह दो बार अंबाला छावनी सीट से विधायक बनीं। दिल्ली और राष्ट्रीय राजनीति में सक्रिय होने के बावजूद सुषमा स्वराज का अंबाला में अपने मायके से हमेशा जुड़ाव बना रहा। सुषमा स्वराज अंबाला छावनी सीट से 1977 और 1987 में विधायक चुनी गई थीं।

वह 1977 में महज 25 साल की उम्र में विधायक बनीं और फिर जनता पार्टी की सरकार में कैबिनेट मंत्री बनीं। वह महज 27 साल की आयु में 1979 में जनता पार्टी की हरियाणा ईकाई की अध्यक्षा बनीं। हरियाणा में चौधरी देवीलाल सरकार में दो बार मंत्री रहीं सुषमा स्वराज ने 1985-86 के न्याय युद्ध आंदोलन में भी हिस्सेदारी की थी। यह न्याय युद्ध एसवाइएल नहर निर्माण को लेकर चौ. देवीलाल और डॉ. मंगलसेन की जोड़ी के नेतृत्व में चलाया गया था।

भाजपा ने उन्हें 1990 में राज्यसभा की सदस्या बनाकर संसद भेज दिया। वर्ष 1996 तक राज्यसभा सदस्या रहने के दौरान सुषमा स्वराज देश के सियासी पटल पर छा गईं। वह दक्षिण दिल्ली से चुनाव जीतकर सांसद बनीं। वर्ष 1996 में सुषमा स्वराज को अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में सूचना एवं प्रसारण मंत्री बनाया गया। 1998 में फिर से लोकसभा चुनाव हुए और केंद्र में एनडीए सत्ता में आया। इस बार सुषमा स्वराज मंत्री बनीं।

अंबाला में शिक्षा हुई

सुषमा स्वराज का जन्म 14 फरवरी 1952 को हुआ था। उनकी शिक्षा अंबाला से हुई। पिता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रतिष्ठित सदस्य थे। उन्होंने राजनीति विज्ञान और संस्कृत विषयों से अंबाला छावनी के एसडी कॉलेज से स्नातक की उपाधि प्राप्त की। सुषमा ने चंडीगढ़ में पंजाब विवि के कानून विभाग से एलएलबी की डिग्री हासिल की। 1970 में उनको अंबाला छावनी के एसडी कॉलेज में सर्वश्रेष्ठ छात्रा का पुरस्कार मिला।

क्या कहते हैं जनप्रतिनिधि

परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा का कहना है कि अंबाला शहर के बस अड्डेे का नाम अंबाला की बेटी स्वर्गीय सुषमा स्वराज के नाम पर रखने का प्रस्ताव भेजा गया है। 14 फरवरी को इसका नामकरण होगा। यह सुषमा स्वराज को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। -असीम गोयल, विधायक शहर

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस