अंबाला [दीपक बहल]। आम बजट में रेलवे की झोली में भी कई नई रेल लाइनें और बड़े प्रोजेक्ट शामिल किए गए हैं। आम बजट पेश करते समय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने रेलवे के प्रोजेक्टों को विस्तार से तो नहीं बताया, लेकिन अब रेलवे ने पिंक बुक में शामिल हुए 2020-21 के मंजूर हुए प्रोजेक्टों की डिटेल जारी कर दी है।

पिंक बुक में नंगल डैम-तलवाड़ा, भानुपल्ली-बिलासपुर, चंडीगढ़-बद्दी, यमुनानगर-चंडीगढ़, राजपुरा-मोहाली, ऊना-हमीरपुर नई रेल लाइनें शामिल की गई हैं। चंडीगढ़ से यमुनानगर रेल लाइन वाया नारायणगढ़ बिछाई जाएगी, जो पिछले चार दशकों से लटकी हुई थी। इसके अलावा चंडीगढ़ से बद्दी के बीच लाइन बिछने से माल ढुलाई का कारोबार बढ़ेगा। नंगल डैम-तलवाड़ा के लिए 50 करोड़, भानुपल्ली-बिलासपुर के लिए 420 करोड़ जारी किए गए हैं। राजपुरा-बठिंडा डबल लाइन के लिए 250 करोड़ रुपये मंजूर किए गए हैं।

उत्तर रेलवे के अंबाला, दिल्ली, लखनऊ, मुरादाबाद और फिरोजपुर मंडलों के लिए अरबों रुपयों का फंड जारी किया गया है। अंबाला मंडल में कई रेल लाइनें बिछाने की भी मंजूरी मिली हैं। इन लाइनों के बिछने से रेलवे की कनेक्टिविटी एक-दूसरे राज्यों में बनेगी, जिससे यात्रियों को फायदा होगा। इसके अलावा डबल लाइन और रेलवे विद्युतीकरण के कई प्रोजेक्टों को भी शामिल किया गया है।

इसी प्रकार उत्तर रेलवे में प्लेटफार्मों का विस्तार करना, ब्लॉक लेकर इंटरलॉकिंग करना, टर्मिनल बढ़ाना, रेल फाटकों को मानवरहित करना, ट्रैकों का रिन्युअल करना, गार्डर बदलना, रेलवे स्टेशनों की मरम्मत व अपग्रेड करना, प्रतिदन 25 हजार यात्रियों की आवाजाही वाले स्टेशनों पर एस्कलेटर लगाना, दिव्यांग यात्रियों की सुविधाओं के लिए भी बजट में करोड़ों रुपये का फंड अलाट किया गया है।

यह होती है पिंक बुक

बजट में जिन रेल लाइनों की घोषणा की जाती है, उनको बिछाने से पहले रेलवे सर्वे करवाता है। इसमें रेलवे का आय और व्यय सहित रेल यात्रियों की आवाजाही, माल ढुलाई आदि का सर्वे किया जाता है। इसके बाद ही सर्वे की रिपोर्ट रेलवे बोर्ड को भेजा जाता है, जिसके बाद इन योजनाओं को बजट में शामिल किया जाता है। इन्हीं प्रोजेक्टों को पिंक बुक में शामिल किया जाता है।

हरियाणा की झोली में आए यह प्रोजेक्ट

पानीपत-रोहतक के लिए 71.4 किलोमीटर (किमी) के लिए 714 करोड़ रुपये मंजूर किए गए हैं। फिरोजपुर-बठिंडा-जाखल-हिसार 168.8 किमी के लिए 1688 करोड़ रुपये मंजूर हुए हैं। अस्थलबोहर-रेवाड़ी 75.2 किमी के लिए 752 करोड़ रुपये, बठिंडा-भिलड़ी वाया सिरसा, हिसार, रतनगढ़, देगाना, लुनी, समधरी, देगाना-राय का बाग 752.2 किमी के लिए 7522 करोड़ और पलवल व न्यू पृथला की कनेक्टिविटी के लिए 3.5 किमी के लिए 65.75 करोड़ रुपये मंजूर हुए हैं।

रेलवे की आमदनी भी बढ़ेगी

अंबाला रेल मंडल के डीआरएम जीएम सिंह का कहना है कि अंबाला डिवीजन में कई प्रोजेक्ट आए हैं, जिनके लिए बजट में कई रेल लाइनों को मंजूर किया गया है। इनके लिए फंड भी जारी कर दिया गया है। रेल लाइनों के साथ डबल लाइनों को भी मंजूरी मिली है, जिससे यात्रियों को सुविधाएं तो मिलेंगी, साथ ही रेलवे की आमदनी भी बढ़ेगी।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Kamlesh Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस