जागरण संवाददाता, अंबाला शहर:

शहर में नई एलईडी लाइटों को लगाने पर ब्रेक लग गया है। शासन से नई एलईडी लाइटों को लगाने को मंजूरी नहीं मिली है। जबकि नगर निगम ने करीब 17 हजार एलईडी लाइटों लगाने के लिए सर्वे किया था। इसमें सोडियम लाइटों की जगह एलईडी लाइटें लगाई जानी थी।

शहर में निगम की मुख्य सड़कों और गलियों में सोडियम लाइटें और ट्यूब लाइटें लगी है। इन लाइटों से बिजली का खर्च भी ज्यादा है। बिजली के खर्च को कम करने के लिए निगम ने शहर में नई एलईडी लगाने का निर्णय लिया था। इसके लिए निगम ने शहर में नई एलईडी लाइटें लगाने के लिए सर्वे कराया। इसमें करीब 17 हजार एलईडी लाइटों लगाने के लिए मुख्य मार्ग, नई एलईडी और चौराहों पर प्वाइंट का चयन किया था। अभी शहर में करीब ढाई हजार एलईडी लाइटें लगी है। वहीं मुख्य चौराहों और सड़कों पर सोडियम लाइटें लगी है। नगर निगम ने सोडियम लाइटों को बदलकर एलईडी लाइटें लगाने का निर्णय लिया था। साथ ही मुख्य चौराहों और पार्को पर हाईमॉस्क लाइटें लगाई जानी थी। इससे नगर निगम का बिजली का खर्च भी कम होगा। साथ ही सड़कों पर प्रकाश व्यवस्था में सुधार होगा। इसके लिए मुख्यालय को नई एलईडी लाइटों के लिए प्रस्ताव भेजा था। लेकिन शासन से नई एलईडी लाइटों को खरीदने के लिए मंजूरी नहीं मिली है। इस वजह से नई एलईडी और हाईमॉस्क लाइटों को बदलने पर ब्रेक लग गया है। निगम अधिकारियों की माने तो निगम ने 40 टॉवर का टेंडर करीब 41.76 लाख रुपये का निकाला था। वहीं वायर का टेंडर करीब 38.24 लाख रुपये का टेंडर निकाला था। इसमें मुख्यायल से लाइटों के टेंडर को रदद कर दिया है। गांव में भी नई एलईडी लाइटें नहीं लगेगी

शहर में करीब दस गांव को निगम सीमा में शामिल किया है। इन गांवों में पंचायत ने एलईडी लाइटों को लगाने काम बंद कर दिया है। ऐसे में मुख्य मार्गो में एलईडी लाइटें बंद होने से लोग परेशान हैं। नगर निगम को इन गांवों में नई एलईडी लाइटें और हाईमॉस्क लाइटें लगानी थी। लेकिन शासन ने नई एलईडी लाइटों पर ब्रेक लगा दिया है। ---------

मुख्यालय से नई एलईडी लाइटों खरीदने के लिए मंजूरी नहीं मिली है। इसलिए अभी नई एलईडी लाइटों को लगाने का काम बंद है।

रोबिन, जेई, नगर निगम

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस